Concentration बढ़ाने और Stress कम करने के लिए वास्तु टिप्स


हमारे वैदिक शास्त्र का अटूट हिस्सा है तथा हम हमारे घर और कारोबार में भी वास्तु को अपना कर जीवन में सुकून ला सकते हैं।

परीक्षाएं पास आ रही हैं और स्टूडेंट्स पढ़ाई की वजह से स्ट्रेस में हैं तो परीक्षाओं के स्टूडेंट्स का Concentration बढ़ाने और Stress
कम करने के लिए ये आजमा सकते हैं।
-
1. छात्रों का कमरा हमेशा उत्तर, उत्तर पूर्व, या पूर्व दिशा में होना चाहिए इससे उसकी स्मरण शक्ति बढ़ती है और वो हमेशा ऊर्जावान महसूस करता है तथा उसे कभी थकान नहीं होती।
2.कमरे की खिड़कियों से दिन का उजाला ठीक तरह से रूम में आना चाहिए ये रूम में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बढ़ता है।

3.छात्रों का कमरा कभी भी टॉयलेट या सीढ़ियों के नीचे ना बनवाएं तथा यह ध्यान रहे कि स्टडी टेबल के ऊपर बीम नहीं आना चाहिए, ये परीक्षा के समय स्ट्रेस बढ़ाने का काम करता है।

4.स्टडी टेबल को उत्तर या पूर्व मुख करके रखें ताकि बच्चा पढ़ते समय इन दोनो में से किसी एक दिशा की ओर मुंह कर के पढ़ें, इससे कॉन्सेंट्रेशन बढ़ेगा।
5.स्टडी टेबल को हमेशा साफ़ रखें तथा उसे खिड़की के साथ रखेंगे तो बच्चे की रचनात्मकता बढ़ेगी।

6. घर का उत्तर पूर्व कोना यानी ईशान कोण हमेशा साफ़ सुथरा होना चाहिए। वहां भारी सामान, जूते या कचरे का डब्बा बिलकुल नहीं रखना चाहिए। इससे बच्चे हमेशा कन्फ़्यूज़न की स्थिति में रहते हैं तथा पढ़ाई में मन नहीं लगता।

7. छात्रों को अपने सिरहाने सरस्वती यंत्र को रखना चाहिए इससे विद्या की देवी मां सरस्वती का आशीर्वाद उन्हें सदैव मिलता है।
8. स्टडी टेबल के ऊपर या सामने कभी भी शीशा ना रखें जहां से शीशे में किताबें दिखती हो, इससे बच्चे पर पढ़ाई का प्रेशर बढ़ जाता है।

9.कमरे में पूर्व दीवार पर दौड़ते हुए घोड़े या उगते हुए की फ़ोटो लगाएं इससे बच्चे में पढ़ाई और परीक्षा के लिए उत्साह बना रहेगा।

10. बच्चे के सर्टिफ़िकट्स और ट्रॉफ़ी कमरे की दक्षिण दिशा में रखें।
11. इस बात का हमेशा ध्यान रखें की सोते समय बच्चे का सिर दक्षिण दिशा की तरफ़ हो ताकि उसकी नींद हमेशा अच्छी तरह से पूरी हो।



और भी पढ़ें :