0

वसंत पंचमी : आज है विद्या की देवी सरस्वती का दिन, इन शुभ मंत्रों से कर लीजिए मां शारदा को प्रसन्न

शनिवार,फ़रवरी 5, 2022
Mantras of Mata Saraswati
0
1
Vasantotsav festival 2022: 5 फरवरी 2022 को बसंत पंचमी के दिन माता सरस्वती की पूजा और आराधना की जाती है। माता सरस्वती ज्ञान, विद्या, वाणी, गायन और वादन की देवी है। आओ जानते हैं कि कुंडली के कौनसे ग्रह दिलाते हैं देवी सरस्वती का आशीर्वाद।
1
2
वीणावादिनी, मंद-मंद मुस्कुराती, हंस पर विराजमान होकर मां सरस्वती मानव जीवन के अज्ञान को दूर कर ज्ञान के प्रकाश से आलोकित करती हैं। पढ़ें संपूर्ण सरस्वती चालीसा :
2
3
Vasant panchami 2022: 5 फरवरी 2022 शनिवार को बसंत पंचमी पर्व मनाया जा रहा है। इस दिन मां सरस्वती (Goddess Saraswati) की आराधना के साथ ही उनकी पूजा की जाएगी। आओ जानते हैं पूजा के शुभ मुर्हूत (puja ke shubh muhurt sanyog) के साथ ही शुभ संयोग।
3
4
विद्यारंभ संस्कार के लिए मुहुर्त ज्ञात करते समय सबसे पहले नक्षत्र का विचार किया जाता है। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार हस्त, अश्विनी, पुष्य और अभिजीत, पुनर्वसु, स्वाति, श्रवण, रेवती, चित्रा, अनुराधा और ज्येष्ठा नक्षत्र को विद्यारंभ संस्कार के लिए बहुत ही ...
4
4
5
विद्यारंभ संस्कार प्रत्येक वर्ष "वसंत-पंचमी" तिथि को किया जाता है। जिसमें विद्या एवं ज्ञान की अधिष्ठात्री देवी मां सरस्वती का पंचोपचार पूजन अर्चन कर विद्यारंभ किया जाता है। विद्यारंभ संस्कार जीवन का अति-महत्त्वपूर्ण संस्कार माना गया है। आइए जानते ...
5
6
Vasantotsav festival 2022: ब्रज मंडल में वसंत पंचमी के दिन को वसंतोत्सव का दिन माना जाता है। यहां पर होली का उत्सव बसंत पंचमी के दिन से ही प्रारंभ हो जाता है। ब्रजभूमि में भगवान श्रीकृष्ण और राधा के रास उत्सव का आयोजन होता है। आओ जानते हैं वसंतोत्सव ...
6
7
Basant Panchami: बसंत पंचमी पर माता सरस्वती की पूजा अक्सर स्कूलों में और उन दफ्तर या संस्थानों में होती है जहां पर लेखन, गायन और वादन का कार्य होता है। वैसे तो देश में माता सरस्वती के बहुत ही कम मंदिर है। फिर भी वसंत पंचमी पर जानिए देश के 10 ...
7
8
इस बार शनिवार, 5 फरवरी 2022 को वसंत पंचमी (vasant panchami 2022) पर्व मनाया जा रहा है। यह दिन मां सरस्वती आराधना के लिए बहुत ही महत्व रखता है। वसंत पंचमी माता सरस्वती (Goddess Saraswati) को प्रसन्न करने का दिन है।
8
8
9
Vasant panchami 2022: 5 फरवरी 2022 शनिवार को बसंत पंचमी पर्व मनाया जा रहा है। इस दिन मां सरस्वती (Goddess Saraswati) की आराधना के साथ ही उनकी पूजा की जाएगी। बसंत पंचमी पर शुभ संयोग और ग्रह योग भी बन रहे हैं लेकिन साथ ही कालसर्प योग का साया भी है तो ...
9
10
हिंदू धर्म में वसंत पंचमी के दिन विद्या की देवी सरस्वती की पूजा की जाती है। देवी सरस्वती का प्राकट्य दिवस होने से इस दिन सरस्वती जयंती, श्रीपंचमी आदि पर्व भी होते हैं। वैसे सायन कुंभ में सूर्य आने पर वसंत शुरू होता है। इस दिन से वसंत राग, वसंत के ...
10
11
वसंतोत्सव (Vasantotsav) का दिन माना जाता है। बसंत पंचमी पर माता सरस्वती पूजा के साथ ही कामदेव (Kamadev) की पूजा भी होती है। आओ जानते हैं कि क्या कारण है इसके पीछे।
11
12
Basant Panchami 2022: बसंत पंचमी का दिन बहुत ही शुभ माना जाता है। इस दिन से बसंत ऋतु का प्रारंभ होता है और धरती पर बसंत की बहार शुरु हो जाती है। इस दिन को किसी भी प्रकार के शुभ कार्य और दान के लिए उत्तम माना जाता है। आओ जानते हैं कि राशि अनुसार ...
12
13
पीले रंग के परिधान पहनने के साथ ही हमें सप्ताह में दो-तीन बार पीले रंग के खाद्य पदार्थ जैसे पीले फल, पीली सब्जियां और पीले अनाज का भी सेवन करना चाहिए। इससे हमारे शरीर में मौजूद हानिकारक तत्व बाहर निकल जाते हैं। ये हानिकारक तत्व शरीर के अंदर बने रहने ...
13
14
Vasant panchami 2022: 5 फरवरी 2022 शनिवार को बसंत पंचमी पर्व मनाया जा रहा है। इस दिन मां सरस्वती (Goddess Saraswati) की पूजा के साथ ही कुछ चीजों का दान भी किया जाता है। आओ जानते हैं शुभ दान।
14
15
5 फरवरी 2022 को बसंत पंचमी के दिन माता सरस्वती का प्रकटोत्सव मनाया जाता है। इसी दिन नागराज तक्षक की पूजा का भी प्रचलन है। इसी दिन मदनोत्सव भी मनाया जाता है। आओ जानते हैं कि बसंत पंचमी पर माता सरस्वती के साथ ही क्यों की जाती है तक्षक की पूजा।
15
16
बसंत पंचमी का पर्व धार्मिक उत्सव का दिन है। इस दिन देवी सरस्वती (sarasvati pooja) की आराधना विशेष रूप से की जाती है। देवी मां सरस्वती के बारे में कहा जाता है कि ये मूर्ख को भी विद्वान बना सकती हैं। देवी सरस्वती हिंदू धर्म की एक प्रमुख देवी है,
16
17
ज्ञान और बुद्धि की देवी मां सरस्वती की जयंती को ही बसंत पंचमी (Basant Panchami 2022) रूप में मनाया जाता है। ये वाणी, बुद्धि, ज्ञान, संगीत, कला और विज्ञान की देवी मेनी जाती है। इनकी पूजा शुभ मुहूर्त में करने से जीवन में शुभता आने लगती है
17
18
वसंत पंचमी को सरस्वती देवी की पूजा अर्चना की जाएगी। राशि अनुसार निम्नलिखित विशेष उपाय करने से सुख-समृद्धि मिलती है।Vasant Panchami 2022
18
19
शनिवार, 5 फरवरी को वसंत पंचमी (Basant Panchami) है और वसंत को ऋतुओं का राजा कहा जाता है। वसंत पंचमी (Vasant Panchami 2022) को श्री पंचमी (Shree Panchami) तथा ज्ञान पंचमी (Gyan Panchami) भी कहते हैं।
19
20
Basant Panchami 2022: इस दिन से वसंत ऋतु का प्रारंभ होता है इसीलिए माघ माह की पंचमी को बसंत पंचमी कहते हैं। इसी दिन माता सरस्वती (Maa Saraswati) का अवतरण दिवस भी है और इसी दिन को मदनोत्सव भी मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस बार 5 फरवरी ...
20
21
त्रिदेवियों में से एक माता सरस्वती की पूजा वसंत पंचमी के दिन होती है। वसंत पंचमी के दिन को इनके जन्मोत्सव के रूप में भी मनाते हैं। देवी सरस्वती का वर्ण श्‍वेत है। वसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की विधि-विधान से पूजा करने वालों को विद्या और बुद्धि का ...
21
22
वर्ष 2022 में दिन शनिवार, 5 फरवरी को बसंत पंचमी (Basant Panchami 2022) का पर्व मनाया जाएगा। धार्मिक ग्रंथों के अनुसार इसी दिन माता सरस्वती का अव‍तरण हुआ था। इस दिन पीले रंग के उपयोग का बहुत महत्व माना गया है।
22
23
Basant Panchami 2022: हिन्दू कैलेंडर के अनुसार माघ माह की शुक्ल पंचमी को बसंत पंचमी के रूप में माता सरस्वती (Maa Saraswati) का जन्मोत्सव और मदनोत्सव बनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस बार 5 फरवरी को वसंत पंचमी मनाई जाएगी। इस दिन माता ...
23
24
पौराणिक मान्यताओं के अनुसार महाकवि कालिदास ने देवी सरस्वती (Goddess Saraswati) के कृपा से ही यश और ख्याति प्राप्त की थी। ऋषि वाल्मीकि, वशिष्ठ, विश्वामित्र, शौनक तथा व्यास जैसे महान ऋषि भी देवी साधना से ही कृतार्थ हुए थे।
24
25
भारत त्योहारों का देश है। भारतीय धर्म में हर तीज-त्योहार के साथ अपनी दिलचस्प परंपराएं भी जुड़ी हुई हैं। यहां हर माह कोई न कोई खास व्रत और त्योहार मनाया जाता है। हिंदू धर्म में वसंत या बसंत पंचमी (Vasant Basant Panchami)
25
26
Valentine Day 2022: भारत में वसंत पंचमी ( Basant Panchami 2022) के दिन को वैलेंटाइन दिवस भी कहा जाने लगा है। दरअसल इसे प्रेम दिवस या प्रेम के इजहार के दिवस के रूप में मनाए जाने का प्रचलन है। आखिर क्यों इसे भारत का वैलेंटाइन डे कहा जाता है? आओ जानते ...
26
27
Basant Panchami 2022: 5 फरवरी को बुधादित्य और केदार योग में वसंत पंचमी मनाई जाएगी। हिन्दू कैलेंडर के अनुसार माघ माह की शुक्ल पंचमी को बसंत पंचमी के रूप में माता सरस्वती (Maa Saraswati) का जन्मोत्सव और मदनोत्सव बनाया जाता है। इस दिन माता सरस्वती की ...
27
28
वसंत पंचमी (Vasant Panchami), वीणावादिनी देवी मां सरस्वती (Goddess Saraswati) की आराधना का पर्व है। मां सरस्वती विद्या, बुद्धि और वाणी का आशीर्वाद देती है।
28
29
बसंत पंचमी (basant panchami) के पावन पर्व पर पढ़ें माता सरस्वती की पवित्र आरती (aarti saraswati mata ki)।
29
30
भारत भर में वसंत पंचमी का उत्सव वीणावादिनी 'मां देवी सरस्वती' (Goddess Shri Saraswati) के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है। हंस पर विराजित मां सरस्वती जीवन के अज्ञान को दूर करके ज्ञान के प्रकाश से आलोकित करती हैं।
30
31
वसंत पंचमी (Vasant Panchami) पर पीले रंग का बहुत महत्व है। इस दिन पीले रंगों (Yellow Colour) का अधिक से अधिक प्रयोग किया जाता है। इस दिन देवी सरस्वती की आराधना करके वासंती रंग के व्यंजनों का भोग (Kesari Dishes Bhog) लगाया जाता है।
31
32
मां सरस्वती का दिन है वसंत पंचमी,इसे बसंत पंचमी भी कहते हैं...इस दिन मां शारदा ज्ञान, वाणी, विद्या और बुद्धि का वरदान देती है... माघ मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि इस बार 5 फरवरी को मनाई जा रही है।
32