हवन-पूजन के बाद राकेश टिकैत की घर वापसी

हिमा अग्रवाल| पुनः संशोधित बुधवार, 15 दिसंबर 2021 (10:52 IST)
हमें फॉलो करें
गाजीपुर। पर आज सुबह से ही सरगर्मी तेज हो गई, किसान हवन पूजन में जुटें हुए हैं, क्योंकि वह अपने घर वापसी करेंगे। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता के नेतृत्व में पिछले 383 दिनों से किसान तीन कृषि कानून के विरोध में आंदोलन कर रहे हैं।

राकेश टिकैत ने बुधवार को हवन के बाद घर लौटने की घोषणा की है, जिसके चलते उनके गृहजनपद मुजफ्फरनगर के सिसौली को दुल्हन की तरह सजाया गया है। भारतीय किसान नेता गाजीपुर बॉर्डर खाली कर सिसौली समेत अपने घरों को रवाना होंगे।

किसानों का कहना है कि वह दोपहर 12 बजे तक गाजीपुर बॉर्डर खाली कर देंगे। राकेश टिकैत की वापसी के साथ सड़को पर फतेह मार्च निकाला जाएगा। राकेश टिकैत के स्वागत के लिए जगह-जगह फूलों की बारिश के लिए लोग सड़कों पर नजर आयेंगे।
गाजियाबाद से सिसौली तक राकेश टिकैत के साथ सैकड़ों वाहनों का काफिला होगा। टिकैत मेरठ, खतौली से मंसूरपुर से शाहपुर होते हुए सर्वखाप मुख्यालय शौरम पहुंचेंगे। शौरम पंचायत घर को दुल्हन की तरह सजाया गया है, रंग-बिरंगी रोशनी में पूरा सिसौली गांव के किसान भवन की भव्यता देखते ही बनती है।

आज राकेश टिकैत भारतीय किसान यूनियन के मुखिया और अपने भाई नरेश टिकैत को उनके जन्मदिन पर घर वापसी का उपहार देंगे, क्योंकि 15 दिसंबर को नरेश टिकैत का जन्मोत्सव है और आज ही 383 दिन बाद राकेश टिकैत की घर वापसी भाई के लिए उपहार से कम नहीं है।



और भी पढ़ें :