UP में बिनौली खंड संघचालक के बेटे ने पुलिस उत्पीड़न से परेशान होकर दी जान

Author हिमा अग्रवाल| Last Updated: मंगलवार, 27 जुलाई 2021 (14:30 IST)
मुख्‍य बिन्दु-
  • बिनौली खंड संघचालक का बेटा है जान देने वाला
  • पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज
  • एसपी ने 10 पुलिसकर्मियों की किया लाइन हाजिर
  • ने पेड़ से लटककर दी जान
के में खाकी से भय से युवक अक्षय ने पेड़ से लटकर जान दे दी है। जान देने वाला युवक बिनौली खंड संघचालक का बेटा है। पुलिस उत्पीड़न से मौत को गले लगाने का मामला जैसे ही सामने आया, तो बागपत में हड़कंप मच गया। ग्रामीणों और पुलिस इस मामले को लेकर बीती रात आमने सामने आ गए। सैकड़ों की संख्या में ग्रामीणों ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुए शव नहीं उठने दिया।

ग्रामीणों ने पुलिस को कठघरे में खड़े करते हुए कहा कि खाकी के व्यवहार से क्षुब्ध होकर अक्षय ने फांसी लगाई है। ग्रामीणों के रोष को देखते हुए पुलिस के हाथ-पांव फूल गये और मौके पर कई थानों की फोर्स मौके पर बुलाई गई।

बागपत में आरएसएस बिनौली खंड संघचालक श्रीनिवास के 22 वर्षीय बेटे अक्षय ने पेड़ से लटककर जान दे दी। बीते कल रनछाड़ गांव में प्राथमिक विद्यालय नंबर-1 पर अक्षय अपनी मां के साथ वैक्सिनेशन कराने गया था। वैक्सीनेशन सेंटर पर भीड़ थी, सेंटर पर पहले वैक्सीन लगवाने को लेकर वहां पुलिस से धक्का-मुक्की हो गई।
ग्रामीणों का आरोप है कि वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने अक्षय के साथ मारपीट की है। सोशल मीडिया पर दो वीडियो वायरल हो रहे हैं, जिसमें एक वीडियो में पुलिस अक्षय को पकड़कर ले जा रही है और दूसरे वीडियो में पुलिसकर्मी जमीन पर गिरा हुआ दिखाई दे रहा है। इस संदर्भ में पुलिस ने एक दर्जन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। वहीं अक्षय को पुलिस पकड़ने के लिए रनछाड़ में दबिश देने पहुंच गई।
पुलिसकर्मियों द्वारा पकड़े जाने के बाद अक्षय छूटकर भाग गया था, जिसका वीडियो भी वायरल है। पुलिस ने अक्षय के की मां मधु, ताई कमलेश पत्नी कृष्णपाल और परिवार के अन्य सदस्यों को भी हिरासत में ले लिया था। इतना ही नही पुलिस ने घर और कार में तोड़फोड़ भी की है। पुलिस की इस बर्बरता व व्यवहार से परेशान होकर अक्षय ने मौत को गले लगा लिया।
बीती रात में इस हाईवोल्टेज हंगामे की गूंज लखनऊ तक पहुंच गई। मेरठ रेंज के आई जी ने मामले को संज्ञान लेते हुए निष्पक्ष जांच के आदेश दिए। पीड़ित परिजनों व ग्रामीणों ने रात शव को उठाने नही दिया, पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद आज सुबह शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा दिया है। इस पूरे प्रकरण पर बागपत एसपी ने एक्शन लेते हुए 10 पुलिसकर्मियों को लाइन हाज़िर कर दिया है। वहीं, मृतक अक्षय के परिवार की तहरीर पर इंस्पेक्टर, एसएसआई समेत 5 पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।
Baghpat

पीड़ित पक्ष की तहरीर पर घर में घुसकर तोड़फोड़ और पुलिस प्रताड़ना से परेशान होकर अक्षय के सुसाइड करने का आरोप लगाते हुए बिनौली थाने में एक तहरीर दी है। तहरीर के आधार पर पुलिस ने इंस्पेक्टर चन्द्रकांत पांडेय, एसएसआई उधम सिंह तालान, सिपाही अश्वनी, हेड कॉन्स्टेबल सलीम व सिपाही मुरली के खिलाफ धारा 147, 148, 323, 427 व 306 आईपीसी में मुकदमा दर्ज कर लिया है।
वहीं, एसपी बागपत अभिषेक सिंह ने इस प्रकरण में लापरवाह इंस्पेक्टर चन्द्रकांत पांडेय, एसएसआई उधम सिंह तालान समेत 10 पुलिसकर्मियों को लाइन हाज़िर कर दिया है। फिलहाल गांव में तनावपूर्ण शांति बनी हुई है, एहतिहात के तौर पर गांव में कई थानों की पुलिस और पीएसी तैनात कर दी गई है ।



और भी पढ़ें :