यूपी में 12 से 14 वर्ष तक के बच्चों के लिए तेज होगा टीकाकरण, CM योगी ने दिए निर्देश

पुनः संशोधित मंगलवार, 17 मई 2022 (16:26 IST)
हमें फॉलो करें
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को अधिकारियों को 12 से 14 वर्ष तक के बच्चों के लिए चल रहे कोविडरोधी टीकाकरण अभियान को तेज करने का निर्देश दिया और कहा कि बच्चों की स्वास्थ्य सुरक्षा को लेकर सतर्क रहना होगा।

वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मंगलवार को राज्य में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सभी पात्र बच्चों का जल्द से जल्द टीकाकरण कराना सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि 12 से 14 साल तक के आयुवर्ग में बड़ी संख्या में बच्चे अभी टीका नहीं ले सके हैं, इसलिए इस अभियान को तेज करने की जरूरत है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिक संक्रमण दर वाले जिलों में सार्वजनिक स्थानों पर मास्क लगाने की व्यवस्था प्रभावी ढंग से लागू की जाए। योगी ने कहा कि कोविड टीकाकरण अभियान की प्रगति संतोषप्रद है, किंतु बच्चों के टीकाकरण अभियान को और तेज करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि 32 करोड़ 9 लाख से अधिक कोविड टीकाकरण के साथ ही 18 वर्ष से अधिक आयु की पूरी आबादी को टीके की कम से कम एक खुराक लग चुकी है, जबकि 90% से अधिक वयस्क लोगों को दोनों खुराक मिल चुकी है।
Koo App
#UPCM @myogiadityanath ने आज कोविड-19 के संबंध में गठित समितियों के अध्यक्षों के साथ बैठक की। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि अधिक पॉजिटिविटी दर वाले जिलों में सार्वजनिक स्थानों पर फेस मास्क लगाए जाने की व्यवस्था को प्रभावी ढंग से लागू किया जाए। साथ ही बच्चों की स्वास्थ्य सुरक्षा को लेकर पूरी सावधानी एवं सतर्कता बरती जाए। - Chief Minister Office, Uttar Pradesh (@CMOfficeUP) 17 May 2022
उन्होंने कहा कि प्रत्येक दशा में यह सुनिश्चित किया जाए कि एक भी नागरिक टीका कवर से वंचित न रहे तथा बूस्टर डोज की महत्ता और बूस्टर टीकाकरण केंद्रों के बारे में आमजन को जागरूक किया जाए।
बैठक में बताया गया कि वर्तमान में कोरोना के उपचाराधीन मरीज 1024 हैं और विगत 24 घंटों में 70 हजार से अधिक परीक्षण किए गए और 129 नए कोरोना मरीजों की पुष्टि हुई। इसी अवधि में 202 लोग उपचारित होकर कोरोना मुक्त भी हुए। बुंदेलखंड में भी नए केस मिल रहे हैं। अधिक संक्रमण दर वाले जिलों में सार्वजनिक स्थानों पर मास्क लगाया जाने की व्यवस्था को प्रभावी ढंग से लागू की जाए।



और भी पढ़ें :