सपा में शामिल हुए स्वामी प्रसाद मौर्य, भाजपा पर साधा निशाना

Last Updated: शुक्रवार, 14 जनवरी 2022 (14:50 IST)
हमें फॉलो करें
लखनऊ। उत्तरप्रदेश सरकार में पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य, धर्म सिंह सैनी ने शुक्रवार को समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के समक्ष पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

हाल में भारतीय जनता पार्टी से इस्तीफा देने वाले 5 विधायकों और अपना दल (एस) के एक विधायक ने भी समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। के अलावा, सपा के पाले में जाने वाले अन्य मंत्री धर्म सिंह सैनी भी शामिल थे। भाजपा सरकार से इस्तीफा देने वाले एक और मंत्री दारा सिंह चौहान आज सपा के कार्यक्रम में दिखाई नहीं दिए।
शुक्रवार को सपा में शामिल होने वाले 5 भाजपा विधायक हैं- भगवती सागर (कानपुर में बिल्हौर), रोशनलाल वर्मा (शाहजहांपुर में तिलहर), विनय शाक्य (औरैया में बिधूना), बृजेश प्रजापति (बांदा में तिंदवारी) और मुकेश वर्मा (फिरोजाबाद में शिकोहाबाद)। सिद्धार्थनगर के शोहरतगढ़ से अपना दल (सोनेलाल) विधायक अमर सिंह चौधरी भी सपा में शामिल हो गए।

इस अवसर पर मौर्य ने कहा कि भाजपा ने केशव मौर्य और स्वामी मौर्य का नाम उछाल कर सरकार बनाई थी। चर्चा थी कि सीएम होंगे केशव या स्वामी पर हुआ क्या। पहले गाजीपुर से स्काईलैंप उतारने की कोशिश की गई। फिर स्काईलैंप आते-आते बीच में ही ब्लास्ट हो गया। दूसरा स्काईलैंप गोरखपुर से लाकर पिछड़े की आंखों में धूल झोंकी गई।
स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि मकर संक्रांति बीजेपी के अंत का इतिहास रचने जा रहा है। जो भाजपा के लोग कुंभकर्णी नींद सो रहे थे उनको अब नींद ही नहीं आ रही है। पहले वे लोग हमारी बात नहीं सुनते थे।

उन्होंने कहा कि भाजपा के कुछ लोग कहते हैं कि 5 साल तक इस्तीफा क्यों नहीं दिया। कुछ कहते हैं बेटे के चक्कर में भाजपा छोड़ी। मैं बताना चाहता हूं कि भाजपा ने गरीबों, पिछड़ों, दलितों और अल्पसंख्यकों की आंख में धूल झोंककर सत्ता हथियाई थी। सरकार बनाएं दलित और पिछड़े, मलाई खाएं अगड़े, 5 फीसदी लोग। स्वामी बोले कि 85 तो हमारा है, 15 में भी बंटवारा है।



और भी पढ़ें :