आज मैदान पर अंतिम बार दिखेगी कोच शास्त्री और कप्तान कोहली की जोड़ी

पुनः संशोधित सोमवार, 8 नवंबर 2021 (10:28 IST)
हमें फॉलो करें
दुबई: भारतीय क्रिकेट में कुछ नये अध्याय जोड़ने वाली निर्वतमान मुख्य कोच रवि शास्त्री और छोटे प्रारूप में कप्तानी छोड़ने का फैसला कर चुके विराट कोहली की जोड़ी टीम के टी20 विश्व कप में सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर होने के बाद अब सोमवार को नामीबिया के खिलाफ सुपर 12 के अंतिम लीग मैच में जीत के साथ अपना अभियान समाप्त करने की कोशिश करेगी।

न्यूजीलैंड ने भारतीय समयानुसार शाम छह बजकर 30 मिनट पर अफगानिस्तान के खिलाफ विजयी रन बनाया जिससे भारतीय प्रशंसक भी निराश हो गये क्योंकि इससे भारत सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर हो गया।

भारतीय खेमे की निराशा का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि भारतीय क्रिकेट बोर्ड के आधिकारिक मीडिया वाट्सएप ग्रुप में पत्रकारों के लिये एक संदेश आया, ‘‘शाम को वैकल्पिक अभ्यास सत्र रद्द कर दिया गया है।’’

भारतीयों की यह निराशा समझी जा सकती है क्योंकि 2012 के बाद यह पहला अवसर है जबकि भारत अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के किसी टूर्नामेंट के नॉकआउट में जगह नहीं बना पाया।

भारतीय खिलाड़ियों की निगाहें भी अफगानिस्तान और न्यूजीलैंड के मैच पर टिकी थी लेकिन उन्हें मैच की पहली पारी के बाद ही पता चल गया था कि उन्हें जल्द ही स्वदेश के लिये उड़ान पकड़नी होगी। इससे उन्हें लंबे समय बाद बायो बबल से बाहर रहने का मौका मिलेगा।

नामीबिया के खिलाफ भारतीय टीम निश्चित तौर पर बड़ी जीत दर्ज करने की कोशिश करेगी। इस मैच के लिये राहुल चाहर और इशान किशन जैसे खिलाड़ियों को मौका मिल सकता है।

ऐसा बहुत कम देखने को मिलता है जबकि भारत को आईसीसी प्रतियोगिता में इस तरह का औपचारिक मैच खेलना पड़ रहा है। इससे पहले उसे ऐसी स्थिति का सामना विश्व कप 1992 में करना पड़ा था जब उसने सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर होने के बाद दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच खेला था।

यह पहला अवसर नहीं है जबकि भारतीय टीम किसी वैश्विक टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में नहीं पहुंची हो लेकिन इतनी निराशाजनक स्थिति कभी नहीं रही। भारत पहली बार विश्व कप (टी20 और वनडे) में पाकिस्तान से पराजित हुआ और फिर रही सही कसर न्यूजीलैंड ने पूरी कर दी।

शास्त्री और उनके कोचिंग स्टाफ का यह आखिरी मैच होगा। जहां तक कोहली का सवाल है तो उन्हें आने वाले दिनों में वनडे की कप्तानी भी गंवानी भी पड़ सकती है।

भारतीय टीम 2013 चैंपियन्स ट्राफी के बार किसी टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में नहीं पहुंच पायी।भारत 2013 में 50 ओवर की चैंपियंस ट्रॉफी में चैंपियन बना था। उसके बाद 2014 में टी20 विश्व कप में वह उपविजेता रहा और 2015 एकदिवसीय विश्व कप में, टीम सेमीफाइनल तक पहुंचा।

भारतीय टीम 2016 के टी 20 विश्व कप ने उन्हें अंतिम चार में पहुंची जबकि 2017 में 50 ओवर की चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में पाकिस्तान से हार गयी। इसके बाद 2019 में उनका एकदिवसीय विश्व कप अभियान सेमीफाइनल में समाप्त हुआ और विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में भी वह उप विजेता रही।

नामीबिया ने सुपर 12 में अब तक केवल स्कॉटलैंड को हराया है और वह भारत जैसी मजबूत टीम के खिलाफ अपना प्रभाव छोड़ने की कोशिश करेगी। (भाषा)

टीमें इस प्रकार हैं :

भारत: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, केएल राहुल, सूर्यकुमार यादव, ईशान किशन, हार्दिक पंड्या, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), रविंद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, राहुल चाहर, वरुण चक्रवर्ती, शार्दुल ठाकुर

नामीबिया: गेरहार्ड इरास्मस (कप्तान), स्टीफन बार्ड, कार्ल बिरकेनस्टॉक, मिचौ डु प्रीज़, जान फ़्रीलिंक, ज़ेन ग्रीन, निकोल लोफ़ी-ईटन, बर्नार्ड शोल्ट्ज़, बेन शिकोंगो, जेजे स्मिट, रूबेन ट्रम्पेलमैन, माइकल वैन लिंगेन, डेविड विसे, क्रेग विलियम्स और पिक्की या फ्रांस।

मैच शाम 7 बजकर 30 मिनट पर शुरू होगा।



और भी पढ़ें :