पहली बार किसी टी-20 मैच में आमने सामने होंगी यह दो टीमें, नहीं है कोई हेड टू हेड रिकॉर्ड

5 टी-20 विश्वकप बीत गए इन दोनों ही टीमों का ना पहले आमना सामना हुआ ना ही कोई सीरीज हुई।

Last Updated: मंगलवार, 26 अक्टूबर 2021 (23:57 IST)
अबुधाबी:2016 का उपविजेता और एशिया की प्रतिस्पर्धी टीम यहां कल पहली बार टी-20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले में एक-दूसरे से भिडेंगे। ग्रुप एक की इन दोनों टीमों के बीच टी-20 विश्व कप 2021 के सुपर 12 चरण का यह आठवां मुकाबला होगा, जो यहां शेख जायद स्टेडियम में दोपहर साढ़े तीन बजे खेला जाएगा। > दोनों टीमों का आज तक टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आमना-सामना नहीं हुआ है। यह काफी अचरज की बात है कि 5 टी-20 विश्वकप बीत गए इन दोनों ही टीमों का ना पहले आमना सामना हुआ ना ही कोई सीरीज हुई।> दोनों के बीच 31 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेले गए हैं, जिसमें इंग्लैंड का दबदबा रहा है। इंग्लैंड ने 26, जबकि बंगलादेश ने पांच मैच जीते हैं। उल्लेखनीय है कि बंगलादेश ने विश्व कप टूर्नामेंट में दो बार इंग्लैंड को हराया है।

ग्रुप एक के इस मैच में इंग्लैंड का पलड़ा भारी होगा लेकिन बांग्लादेश की टीम को उपमहाद्वीप की परिस्थितियों में खेलने का बेहतर अनुभव है।कप्तान इयोन मोर्गन की अगुवाई वाली इंग्लैंड ने वेस्टइंडीज को 14.2 ओवर में 55 रन पर आउट करने के बाद महज 8.2 ओवर में जीत दर्ज की थी।

दोपहर में शुरू होने वाले इस मैच में मौजूदा एकदिवसीय विश्व चैंपियन को अबुधाबी की कड़ी गर्मी झेलनी होगी, जहां उमस भरे माहौल में तापमान 32 डिग्री सेल्सियस से ऊपर चढ़ता है।

इंग्लैंड के लिए हालांकि अच्छी बात यह है कि अबुधाबी की पिच को तेज गेंदबाजों के लिए मददगार माना जाता है और ऐसे में मोर्गन एक बल्लेबाज की जगह टीम में मार्क वुड को शामिल कर सकते हैं।इस स्थल पर अब तक हुए चार मैचों में तीन में लक्ष्य का पीछा करने वाली टीमें सफल रही हैं।

इंग्लैंड की टीम टूर्नामेंट में बेन स्टोक्स, जोफ्रा आर्चर और सैम कुरेन जैसे खिलाड़ियों के बिना पहुंची है लेकिन हरफनमौला मोईन अली ने शानदार गेंदबाजी कर इस तिकड़ी की कमी महसूस नहीं होने दी है।

वेस्टइंडीज के खिलाफ मोईन ने पावर प्ले के अंदर दो सफलता हासिल की और चार ओवर में एक मेडन के साथ सिर्फ 17 रन दिये। इससे पावरप्ले में वेस्टइंडीज का स्कोर चार विकेट पर 33 रन हो गया।इसके बाद रही सही कसर आदिल राशिद ने 2.2 ओवर में दो रन देकर चार विकेट लेकर पूरी कर दी।

बांग्लादेश की टीम इस प्रारूप के विश्व कप में अपने रिकॉर्ड को सुधारना चाहेगी। टीम 2007 के बाद से अब तक सिर्फ सात मैच जीत सकी है जिसमें टेस्ट खेलने वाले देश (वेस्टइंडीज) के खिलाफ महज एक सफलता है।

उनके लिए यहां की परिस्थितियों का फायदा उठाना जरूरी होगा।टीम श्रीलंका के खिलाफ पिछले मैच में अपने दिग्गज हरफनमौला शाकिब अल हसन का पूरा इस्तेमाल नहीं कर सकी थी।

बायें हाथ के इस गेंदबाज ने शुरुआती ओवरों में श्रीलंका के दो बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा जिससे 10 ओवर में टीम का स्कोर चार विकेट पर 79 रन था। वह जब दोबारा गेंदबाजी के लिए आये तब तक मैच बांग्लादेश की पकड़ से लगभग निकल चुका था।

इंग्लैंड के पास एक मजबूत बल्लेबाजी क्रम है, लेकिन उसका शीर्ष क्रम वेस्टइंडीज के खिलाफ महज 56 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए अस्थिर दिख रहा था। मुस्तफिजुर रहमान की अगुवाई वाली बांग्लादेश के तेज गेंदबाज इसका फायदा उठाना चाहेंगे।

बांग्लादेश के पास तस्कीन अहमद, मोहम्मद सैफुद्दीन और बायें हाथ के तेज गेंदबाज शोरफुल इस्लाम जैसे बेहतर तेज गेंदबाज हैं।

टीम:

इंग्लैंड: इयोन मोर्गन (कप्तान), मोईन अली, जॉनी बेयरस्टो, सैम बिलिंग्स, जोस बटलर, टॉम करेन, क्रिस जॉर्डन, लियाम लिविंगस्टोन, डेविड मलान, टाइमल मिल्स, आदिल राशिद, जेसन रॉय, डेविड विली, क्रिस वोक्स, मार्क वुड।

बांग्लादेश: महमूदुल्लाह (कप्तान), लिटन दास, मोहम्मद नईम, महेदी हसन, शाकिब अल हसन, सौम्य सरकार, मुशफिकुर रहीम, नूरुल हसन, अफीफ हुसैन, नसुम अहमद, तस्कीन अहमद, शमीम हुसैन, मुस्ताफिजुर रहमान, मोहम्मद सैफुद्दीन।



और भी पढ़ें :