बर्बरता की हद, तालिबानियों ने किया जूनियर महिला वॉलीबॉल खिलाड़ी का सिर कलम

Last Updated: बुधवार, 20 अक्टूबर 2021 (21:59 IST)
राज में महिलाओं की बद से बदतर स्थिती तो हो ही गई थी। तालिबान ने महिला क्रिकेट पर प्रतिबंध लगा दिया था। महिला फुटबॉल खिलाड़ी अपनी जान बचाकर ऑस्ट्रेलिया भागी थी। दूसरे खेलों से संबंधित महिला खिलाड़ियों के साथ भी कुछ यह ही हुआ। लेकिन अब जो खबर सामने आ रही है वह दिल देहला देने वाली है। तालिबानियों ने एक बर्रबर्ता रूप से एक खिलाड़ी का सिर कलम कर दिया है। > एक इंटरव्यू में टीम कोच सुराया अफजाली (बदला हुआ नाम) ने बताया कि महजबीन हकीमी (Mahjabin Hakimi) नाम की एक महिला खिलाड़ी को तालिबान ने अक्टूबर में मार डाला था, लेकिन किसी को भी इस भीषण हत्याकांड के बारे में पता नहीं चला, क्योंकि विद्रोहियों ने उसके परिवार को इसका खुलासा न करने की धमकी दी थी।महजबीन अशरफ गनी सरकार के पतन से पहले काबुल म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन वॉलीबॉल क्लब के लिए खेलती थी। वह क्लब के स्टार खिलाड़ियों में से एक थी।> कुछ दिनों पहले उसके कटे हुए सिर और खून से लथपथ शव की तस्वीरें सोशल मीडिया पर सामने आईं। अफगान महिला राष्ट्रीय वॉलीबॉल टीम के कोच ने कहा कि अगस्त में तालिबान के पूर्ण नियंत्रण से पहले टीम के केवल दो खिलाड़ी देश से भागने में सफल हो पाए थे। महजबीन हकीमी उन कई अन्य बदनसीब खिलाड़ियों में शामिल थीं, जो भागने में नाकाम रहीं।

अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद तालिबान ने महिला एथलीटों की पहचान करने और उनको निशाना बनाना शुरू कर दिया है। अफजाली ने दावा किया कि आतंकवादी अफगान महिला वॉलीबॉल टीम के सदस्यों की तलाश तेज कर दी है। वह ऐसी प्लेयर्स को ढूंढ रहे हैं, जिन्होंने विदेशी और घरेलू प्रतियोगिताओं में भाग लिया। अफजाली ने फारसी इंडिपेंडेंट को बताया, “वॉलीबॉल टीम के सभी खिलाड़ी और बाकी महिला एथलीट बुरी स्थिति में हैं। वह खौफ में जी रहे हैं1 हर किसी को भागने और भूमिगत रहने के लिए मजबूर किया गया है।”



और भी पढ़ें :