विश्व त्वाइकांडो स्पर्धा में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनी अरूणाचल की रूपा बेयोर

Last Updated: शुक्रवार, 4 मार्च 2022 (18:48 IST)
हमें फॉलो करें
जाग्रेब शहर में आयोजित क्रोएशिया अंतरराष्ट्रीय में रूपा बेयोर मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बन गई है। उन्होंने इस टूर्नामेंट के सीनियर पॉमसे इवेंट में कांस्य पदक जीता।



के उत्तरी सुभांसरी जिले की निवासी रूपा बेयोर ने मिश्रित युगल में भी भारतीय खिलाड़ी राहुल जैन के साथ रजत पदक जीता। दिलचस्प बात यह है कि राहुल जैन ने भी एकल स्पर्धा में कांस्य पदक जीता।

गौरतलब है कि क्रोएशिया ओपन विश्व त्वाइकांडो द्वारा आयोजित होता है जिसको
अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति से मान्यता प्राप्त है।

अपनी इस उपलब्धि पर रूपा बेयोर ने कहा कि "मैं अपने पहले विश्व त्वाइकांडो जी2 इवेंट में कांस्य और रजत पदक के साथ शुरुआत कर खुश हूं।"

उन्होंने आगे कहा कि "मैं कनाडा , विश्व ओपन और एशियाई चैंपियनशिप में अपने पदक के रंग को स्वर्ण में बदलने के लिए प्रतिबद्ध हूं। मैं अपने फिजियो अक्षय सर और अपने कोच अभिषेक सर को धन्यवाद देना चाहती हूं जिन्होंने न केवल जीतने का यह सपना बोया बल्कि पिछले 1 साल से समर्थन का एक मजबूत स्तंभ रहे।

2014 के राष्ट्रमंडल खेलों के पूर्व राष्ट्री कोच अभिषेक दुबे के सानिध्य में बेयोर सहित अन्य खिलाड़ी स्कॉटलैंड में प्रशिक्षण ले रहे हैं।

दुबे ने अपनी खिलाड़ी रूपा की उपलब्धि पर कहा कि “रूपा भारत में ताइक्वांडो के लिए एक खोज रही है और आगामी एशियाई खेलों और विश्व चैम्पियनशिप में भारत के लिए एक अच्छी खबर
है। क्रोएशिया में उसने जो किया है उस पर हम सभी को गर्व है और यकीन है कि अगर हमारे महासंघ, खेल मंत्रालय और अन्य हितधारक अपना समर्थन जारी रखते हैं तो वह जल्द से जल्द अंतरराष्ट्रीय मंच पर और सफलता प्राप्त होगी।

इससे पहले रूपा बेयोर ने साल 2013 में नेपाल की राजधानी काठमांडू में दक्षिण एशियाई खेलों में भारत के लिए रजत पदक जीता था।
रूपा की इस जीत पर खेल मंत्री किरण रीजिजू ने भी ट्वीट कर इस खिलाड़ी को बधाई दी है। (वेबदुनिया डेस्क)



और भी पढ़ें :