राजस्थान रॉयल्स ने ट्वीट किया कोलकाता के खराब मौसम का वीडियो, आए फनी कमेंट्स (वीडियो)

Last Updated: मंगलवार, 24 मई 2022 (16:29 IST)
हमें फॉलो करें
गुजरात बनाम राजस्थान का मैच खराब मौसम के कारण प्रभावित हो सकता है या फिर अगर बारिश देर तक रहती है तो रद्द होने के भी आसार है। ऐसे में दोनों ही टीमों इस बात को लेकर उत्सुक है कि मैच होगा भी या नहीं।

ने इस ही सिलिसले में अपने होटल से एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में दिखाया गया है कि बाद छाए हुए हैं और हल्की बूंदा बांदी हो रही है।
इस वीडियो को देखकर क्रिकेट फैंस दुखी है कि आज का मैच होगा भी या नहीं। मौसम को लेकर सबको उत्सुक्ता है और इस बात के क्रिकेट फैंस मजे भी ले रहे हैं। अगर मैच आज नहीं हो पाता है तो कुछ ऐसे ही चुटकुले फैंस को गुदगुदाएंगे।
व्यवधान की स्थिति में सुपर ओवर से हो सकता है विजेता का फैसला

अगर बारिश का खलल पड़ता है और नियमित समय में खेल संभव नहीं हो पाता तो इंडियन प्रीमियर लीग के 15वें सत्र के विजेता का फैसला सुपर ओवर से हो सकता है।

आईपीएल के दिशानिर्देशों के अनुसार एक भी ओवर संभव नहीं हो पाता तो लीग की तालिका का सहारा लिया जाएगा और उसमें स्थिति के आधार पर विजेता का फैसला होगा।

यह नियम क्वालीफायर एक, एलिमिनेटर, क्वालीफायर दो पर भी लागू होंगे जिनके लिए कोई रिजर्व दिन नहीं रखे गए हैं।खिताबी मुकाबले के लिए 30 मई को रिजर्व दिन रखा गया है। यह मुकाबला रात आठ बजे से खेला जाएगा।

आईपीएल के प्ले आफ मुकाबलों की शुरुआत कोलकाता में होगी जहां खराब मौसम की भविष्यवाणी की गई है और ऐसे में बारिश के कारण मैच में व्यवधान की आशंका को देखते हुए आईपीएल ने दिशानिर्देश जारी किए हैं।

मंगलवार को पहले क्वालीफायर में राजस्थान रॉयल्स की भिड़ंत गुजरात टाइटंस से होगी जबकि अगले दिन इसी स्थान पर एलिमिनेटर में लखनऊ सुपर जाइंट्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर की टीम आमने सामने होंगी।दूसरा क्वालीफायर और फाइनल अहमदाबाद में क्रमश: शुक्रवार और रविवार को खेला जाना है।

आईपीएल दिशानिर्देशों के अनुसार, ‘‘प्रत्येक प्ले आफ मैच में जरूरत पड़ने पर मैच के ओवरों की संख्या को प्रत्येक टीम के लिए कम से कम पांच ओवर की बल्लेबाजी तक कम किया जा सकता है। ’’

इसमें कहा गया, ‘‘एलिमिनेटर और प्रत्येक क्वालीफायर में, अगर अतिरिक्त समय के बाद भी पांच ओवर का खेल पूरा नहीं हो पाता तो अगर हालात साथ देते हैं तो संबंधित एलिमिनेटर या क्वालीफायर मुकाबले के विजेता का फैसला सुपर ओवर के जरिए होगा।’’

दिशानिर्देशों में कहा गया, ‘‘अगर सुपर ओवर संभव नहीं होता है तो 70 मैच के नियमित सत्र के बाद अंक तालिका में बेहतर स्थिति में रहने वाली टीम को संबंधित प्ले आफ मुकाबले या फाइनल में विजेता घोषित किया गया।’’अगर 29 मई को फाइनल शुरू होता है और एक भी गेंद फेंकी जाती है तो मैच अगले दिन वहीं से शुरू होगा जहां रुका था।



और भी पढ़ें :