भारत की 4x400 मीटर रिले टीम ने अंडर-20 विश्व एथलेटिक्स में जीता ब्रॉन्ज मेडल (वीडियो)

Last Updated: गुरुवार, 19 अगस्त 2021 (11:50 IST)
नैरोबी: भारत की चार गुणा 400 मीटर मिश्रित ने बुधवार को यहां चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता। यह अंडर-20 विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप के इतिहास में भारत का पांचवां पदक है। भारतीय टीम में भरत एस, प्रिया मोहन, सम्मी और शामिल थे।

भारतीय टीम चैंपियनशिप के फाइनल में 3:23.60 सेकंड के समय से तीसरे स्थान पर रही। नाइजीरिया ने 3:19.70 सेकेंड के समय से स्वर्ण और पोलैंड ने 3:19.80 सेकेंड के समय से रजत पदक जीता। भारत ने सुबह चैंपियनशिप की हीट में 3:23.36 सेकेंड के रिकार्ड समय से ओवरआल दूसरी सर्वश्रेष्ठ टीम के तौर पर फाइनल में प्रवेश किया था। यह रिकॉर्ड हालांकि ज्यादा देर भारत के नाम नहीं रहा और नाइजीरिया ने दूसरी हीट में 3:21.66 के टाइमिंग के साथ इसे तोड़ दिया।

भारत ने फाइनल में दौड़ने वाली अपनी टीम में बदलाव किया। हीट में दौड़ने वाले अब्दुल रज्जाक की जगह भरत ने ली। भरत ने हाल में संगरूर में फेडरेशन पक राष्ट्रीय जूनियर चैंपियनशिप में 47.55 सेकंड का समय लिया था। प्रिया और सम्मी की यह दिन की तीसरी रेस थी। इन दोनों ने व्यक्तिगत 400 मीटर हीट में भी हिस्सा लिया था।

प्रिया ने फाइनल के बाद कहा, ‘हम ओलंपिक भाला फेंक स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा से प्रेरित थे। हम दुनिया को दिखाना चाहते थे कि ओलंपिक में उनकी जीत तुक्का नहीं थी। यहां हमारी जीत कई भारतीयों को एथलेटिक्स से जुड़ने के लिए प्रेरित करेगी।’

इससे पहले भारतीय मिश्रित 4×400 मीटर रिले टीम ने बुधवार को अपनी हीट एक में पहला स्थान हासिल करके केन्या के नैरोबी में चल रही अंडर -20 विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप के फाइनल में प्रवेश कर लिया था।

अब्दुल रज्जाक, प्रिया मोहन, सुमी और कपिल की मौजूदगी वाली भारतीय टीम ने 3:23.36 सेकेंड के चैंपियनशिप रिकॉर्ड समय के साथ अपनी हीट जीती थी।

इस तरह चार गुणा 400 मीटर मिश्रित रिले टीम के कांस्य से पहले अंडर-20 विश्व चैंपियनशिप में भारत के लिए सीमा अंतिल (चक्का फेंक में कांस्य, 2002), नवजीत कौर ढिल्लों (चक्का फेंक में कांस्य, 2014), ओलंपिक चैम्पियन नीरज चोपड़ा (भालाफेंक में स्वर्ण, 2016), हीमा दास (400 मीटर में स्वर्ण, 2018) ने पदक जीते हैं ।

प्रिया ने 400 मीटर की तीसरी हीट में 53.79 सेकेंड के समय के साथ तीसरे स्थान पर रहते हुए फाइनल में जगह बनाई जो शनिवार को होगा। सिम्मी हालांकि हीट दो में 55.43 सेकेंड के समय के साथ पांचवें स्थान पर रहते हुए बाहर हो गई।

पुरुष गोला फेंक में अमनदीप सिंह धालीवाल ने 17.92 मीटर के सर्वश्रेष्ठ प्रयास के साथ फाइनल में जगह बनाई। तार गोला फेंक में हालांकि विपिन कुमार फाइनल में जगह बनाने में नाकाम रहे। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रयास 63.17 मीटर रहा जो 74 मीटर के क्वालीफाइंग स्तर से काफी कम था। भाला फेंक में कुंवर अजय सिंह राणा और जय कुमार दोनों फाइनल में जगह बनाने में सफल रहे। राणा ने भाला 71.05 मीटर जबकि जय ने 70.34 मीटर की दूरी तक फेंका। भाला फेंक फाइनल शुक्रवार को होगा।(भाषा)



और भी पढ़ें :