साल 2021 में भारतीय फुटबॉल का रहा औसत प्रदर्शन, यह है FIFA रैंकिंग

पुनः संशोधित बुधवार, 29 दिसंबर 2021 (07:51 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली: के लिये बीता वर्ष खास उल्लेखनीय नहीं रहा जिसमें कुछ जीत मिली तो कुछ हार। इस साल कप्तान सुनील छेत्री ने अंतरराष्ट्रीय गोलों के मामले में फुटबॉल के जादूगर पेले को पीछे छोड़ दिया तो महिला टीम के प्रदर्शन की भी चर्चा हुई।

भारतीय फुटबॉल को वर्ष 2021 में कोई बड़ी सफलता नहीं मिली। पचास और साठ के दशक का अपना खोया गौरव लौटाने की कोशिश में जुटी टीम उस पल का इंतजार ही करती रही जो देश में इस खेल की दशा और दिशा बदल सके।

भारत ने रिकॉर्ड आठवीं बार जीती लेकिन एक क्षेत्रीय टूर्नामेंट में जीत से बहुत कुछ बदलने वाला नहीं है। बड़ी टीमों के खिलाफ जीत दर्ज करनी जरूरी है। ऐसे मौके भी आये लेकिन ऐन क्षणों में लय गंवाने से भारत को ड्रॉ से संतोष करना पड़ा।

फीफा विश्व कप 2022 क्वालीफायर में मिली सिर्फ एक जीत

फीफा विश्व कप 2022 क्वालीफायर में भारत ने आठ मैचों में चार ड्रॉ खेले, तीन हारे और बस एक जीतकर कुल सात अंक बनाये । भारतीय टीम ने छह गोल किये और सात गंवाये और एक बार फिर दूसरे दौर की बाधा पार नहीं कर सकी।

भारत क्वालीफायर के ग्रुप ई में कतर और ओमान के बाद तीसरे स्थान पर रहा। अभी भी उसके पास 2023 एएफसी एशियन कप के जरिये उसके पास क्वालीफिकेशन का मौका है।

सुनील छेत्री ने

लियोनेल मेसी को पीछे छोड़ा


इस साल सुनील छेत्री ने नेपाल के खिलाफ सैफ चैम्पियनशिप में पहला गोल करते हुए पेले को पीछे छोड़ा। अब उनके अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल में 80 गोल हो गए हैं और उन्होंने लियोनेल मेस्सी की बराबरी कर ली।

भारत ने बांग्लादेश से ड्रॉ खेला और श्रीलंका से गोलरहित बराबरी की जिसकी काफी आलोचना हुई। भारतीय टीम हालांकि समय रहते चेती और वापसी करके टूर्नामेंट जीता । इससे मुख्य कोच इगोर स्टिमक के कार्यकाल में भी एक साल का विस्तार हो गया।

महिला फुटबॉल टीम ने दक्षिण अमेरिका का दौरा करके ब्राजील जैसी दिग्गज टीम के खिलाफ मैच खेला। अगले साल अपनी मेजबानी में एएफसी एशियन कप और अंडर 17 फीफा विश्व कप की तैयारी में जुटी भारतीय महिला टीम ने 14 में से 11 मैच गंवाये।

एएफसी महिला एशियन कप में भारत को ईरान, चीनी ताइपे और चीन के साथ रखा गया है।इस साल इंडियन सुपर लीग की टीम एफसी गोवा ने एएफसी चैम्पियंस लीग खेलकर इतिहास रचा। यह कमाल करने वाला वह पहला भारतीय क्लब है।

फीफा रैंकिंग में भारत 104वें स्थान पर बरकरार

फुटबॉल के विश्व निकाय फीफा ने हाल ही में अंतरराष्ट्रीय पुरुष रैंकिंग घोषित की, जिसमें भारतीय पुरुष फुटबॉल टीम 104वें स्थान पर बरकरार है।

बेल्जियम ने लगातार चौथे वर्ष रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर कब्जा रखा। वह दूसरे नंबर पर मौजूद ब्राजील से हालांकि 2.1 अंक से ही आगे है। इस बीच फ्रांस तीसरे स्थान पर रहा। ओवरऑल बात करें कनाडा वर्ष की सबसे बेहतरीन टीम रही है, जिसने पिछले 12 महीनों में 130.32 अंकाें के फायदे से 40वें स्थान पर कब्जा किया है।

2021 गोल्ड कप के सेमीफाइनल में शानदार प्रदर्शन के साथ-साथ फीफा विश्व कप कतर 2022 के क्वालीफायर टूर्नामेंट में प्रभावशाली परिणाम उसके ऊपर बढ़ने के प्रमुख कारक रहे हैं।

कोपा अमेरिका 2021 के विजेता अर्जेंटीना और यूईएफए यूरो 2020 के विजेता को भी रैंकिंग में फायदा हुआ। दोनों टीमें अंकों में वृद्धि के साथ क्रमश: पांचवें और छठे स्थान पर पहुंच गईं हैं। वही इंग्लैंड चौथे और अमेरिका 11वें स्थान पर रहा है।

अफ्रीकी टीमाें में सबसे प्रभावशाली इक्वेटोरियल गिनी की टीम रही है जिसने रैंकिंग में फायदे के साथ 114वां स्थान हासिल किया है, जबकि एशिया में सऊदी अरब ने ऐसा करके दिखाया है। उसे 51वें स्थान मिला है। हालांकि पिछले महीने के लिहाज से देखें तो सबसे बेहतर एशियाई टीम इंडोनेशिया है जो 164वें स्थान पर पहुंची है।

फीफा अरब कप 2021 के विजेता अल्जीरिया और तीसरे स्थान पर कतर को भी रैंकिंग में फायदा हुआ है। दोनों क्रमश: 29वें और 48वें स्थान पर पहुंच गए हैं, जबकि थाईलैंड 115वें पर स्थान पर आ गया है।



और भी पढ़ें :