Picture Story : सर्वपितृ अमावस्या के 10 राज

shradhha Paksha
Last Updated: बुधवार, 6 अक्टूबर 2021 (13:12 IST)
आज का अंतिम दिन है जिसे सर्वपितृ अमावस्या कहते हैं। इसे पितृविसर्जनी अमावस्या, महालय समापन, महालय विसर्जन और दर्श अमावस्या भी कहते हैं। आश्‍विन माह में आने के कारण इसे आश्‍विन अमावस्या भी कहते हैं। आज तथा केवल पिता के लिए ही नहीं बल्कि समस्त पूर्वजों एवं मृत परिजनों के लिए भी किया जाता है। समस्त कुल, परिवार तथा ऐसे लोगों को भी जल दिया जाता है, जिन्हें जल देने वाला कोई न हो।

( ) समापन 6 अक्टूबर 2021, बुधवार को आश्विन मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि अर्थात सर्वपितृ मोक्ष अमावस्या ( sarva pitru moksha amavasya 2021 ) को है। आओ जानते हैं सर्वपितृ अमावस्या के 10 राज।
Sarva Pitru Amavasya



और भी पढ़ें :