0

माता भुवनेश्वरी देवी के 5 रहस्य, जानिए साधना का मंत्र

शनिवार,सितम्बर 18, 2021
0
1
हिन्दू धर्म में त्रिदेवियों में से एक है माता लक्ष्मी। दीपावली के दिन इनकी विशेष पूजा होती है साथ ही विशेष अवसरों पर महालक्ष्मी की घर में स्थापना करके उनकी पूजा की जाती है। खासकर महाराष्ट्र में महालक्ष्‍मी की पूजा का प्रचलन है। हम अक्सर 2 नाम सुनते ...
1
2
चैत्र माह की शुक्ल पक्ष की नवमी को श्रीराम और वैशाख माह की शुक्ल पक्ष की नवमी को श्री सीताजी ने जन्म लिया था। दूसरी ओर भाद्रपद की कृष्ण पक्ष की अष्टमी को श्रीकृष्ण ने और भाद्रपद की शुक्ल पक्ष की अष्टमी को श्रीराधा ने जन्म लिया था। आओ जानते हैं माता ...
2
3
भाद्रपद की शुक्ल चतुर्थी के दिन भगवान गणेशजी का जन्म हुआ था। इसलिए इस दिन गणपति की स्थापना करके गणेशोत्सव मनाया जाता है। आओ जानते हैं प्रथम पूज्य देव गणेशजी की पत्नियों के बारे में 9 रोचक बातें।
3
4
प्राचीनकाल से ही लोग खाना खाने के बाद मीठा जरूर खाते हैं। हिन्दू शास्त्र और आयुर्वेद में भी इसका उल्लेख मिलता है। मीठा खाने के संबंध में तो आपको पता ही होगा लेकिन बहुत कम लोग नहीं जानते होंगे कि खाने के पहले तीखा या कहें कि चरका क्यों खाते हैं। आओ ...
4
4
5
चम्पा को अंग्रेजी में प्लूमेरिया कहते हैं। चम्पा के खूबसूरत, मन्द, सुगन्धित हल्के सफेद, पीले फूल होते हैं। चंपा मुख्यत: 5 प्रकार की होती है:- 1.सोन चंपा, 2.नाग चंपा, 3.कनक चंपा, 4.सुल्तान चंपा और कटहरी चंपा। सभी तरह की चंपा एक से एक अद्भुत और सुंदर ...
5
6
यदि आप मध्यप्रदेश की तीर्थनगरी उज्जैन में पुण्य सलिला शिप्रा तट के निकट स्थित 6ठी शताब्दी ईसा पूर्व में निर्मित 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक बाबा महाकालेश्वर के दर्शन करने जा रहे हैं तो कुछ जरूरी 10 बात अवश्य जान लें।
6
7
किसी पर्व, विवाह, मंगल कार्य, शुभ मांगलिक अवसरों पर अक्सर महिलाएं 16 श्रृंगार करती है। करवा चौथ हरियाली तीज पर भी महिलाएं सजती और संवरती हैं। सौभाग्य के लिए किए यह श्रृंगार किया जाता है। सजने-संवरने के लिए महिलाएं कई तरह के सौंदर्य प्रसाधनों का ...
7
8
उज्जैन के कालों के काल महाकाल बाबा के मंदिर में प्रतिदिन अलसुबह भस्म आरती होती है। भस्म को शिवजी का वस्त्र माना जाता है। किसी भी पदार्थ का अंतिम रूप भस्म होता है। किसे भी जलाओ तो वह भस्म रूप में एक जैसा ही होगा। मिट्टी को भी जलाओ तो वह भस्म रूप में ...
8
8
9

सुरा, सोम और मदिरा, जानिए फर्क

शुक्रवार,अगस्त 6, 2021
प्राचीन भारत में सुर, सुरा, सोम और मदिरा आदि का बहुत प्रचलन था। कहते हैं कि इंद्र की सभा में सुंदरियों के नृत्य के बीच सुर के साथ सुरापान होता था। यह कितना सही है यह बताना मुश्‍किल है, क्योंकि वेदों में देवताओं द्वारा सोमपान किए जाने की चर्चा ज्यादा ...
9
10
केरल स्थित सबरीमाला मंदिर भारतीय राज्य केरल में शबरीमाला में अयप्पा स्वामी का प्रसिद्ध मंदिर है, जहां विश्‍वभर से लोग अयप्पा स्वामी के दर्शन करने के लिए आते हैं। भगवान अयप्पा के पिता शिव और माता मोहिनी हैं। इस मंदिर का एक रहस्य है जिसे समझना ...
10
11
प्रत्येक व्यक्ति धर्म की अलग-अलग परिभाषा करता है। विद्वान लोग ग्रंथों से परिभाषा निकालकर लोगों को बताते हैं और सभी की परिभाषा में विरोधाभाषा की भरमार है। आओ जानते हैं धर्म संबंधी 10 रोचक बातें।
11
12
हिन्दू कैलेंडर के अनुसार प्रत्येक मास में अलग-अलग देवों की उपासना का प्रचलन इसलिए है क्योंकि उक्त माह में प्रकोत्सव या कुछ विशेष होता है। आओ जानते हैं कि किस माह मैं किस देव की पूजा होती है।
12
13
16 जलाई 2021, शुक्रवार को ताप्ती जयंती मनाई जाएगी। यह देश की प्रमुख नदियों में से एक है। ताप्ती जन्मोत्सव आषाढ़ शुक्ल सप्तमी को मनाया जाता है। आओ जानते हैं इस नदी के 7 तथ्‍य।
13
14
जिस तरह वृक्षों में पीपल, नीम और बरगद का खास महत्व है। उसी तरह हिन्दू धर्म में कमल, पारिजात, केतकी के फूलों को बहुत ज्यादा महत्व दिया जता है। आओ जानते हैं कमल के फूल के संबंध में रोचक बातें।
14
15
महाभारत में नक्षत्र युक्त चंद्र ध्वज युधिष्ठिर के रथ पर लहराता था जबकि श्रीकृष्‍ण अर्जुन के रथ पर गरुढ़ ध्वज लहराता था। श्री जगन्नाथ मंदिर के शिखर पर लगे ध्वज पर अर्धचंद्र बना हुआ है और जिसके साथ एक सितारा भी है। आओ जाते हैं इस ध्वज का रहस्य।
15
16
जगन्नाथ पुरी में रथयात्रा की परंपरा में बहुत तरह की रस्में निभाई जाती है। प्रभु जगन्नाथ की यात्रा उनके मंदिर से प्रारंभ होती है और 2 किलोमीटर के मार्ग का सफर तय करके गुंडिचा मंदिर पहुंचती है। इस दौरान यात्रा के पूर्व, यात्रा के बीच और यात्रा की ...
16
17
भारतीय राज्य ओड़िसा में सप्तपुरियों में से एक है पुरी जहां पर प्रभु जगन्नाथ का विश्‍व प्रसिद्ध मंदिर है। इसे चार धामों में एक माना जाता है। इस मंदिर को राजा इंद्रद्युम्न ने हनुमानजी की प्रेरणा से बनवाया था। कहते हैं कि इस मंदिर की रक्षा का दायित्व ...
17
18
जैसे जैन धर्म के मुख्यत: दो संप्रदाय है- श्वेतांबर और दिगंबर। बौद्ध धर्म के भी मुख्‍य दो संप्रदाय है- हिनयान और महायान। मुस्लिमों के दो संप्रदाय है- सुन्नी और शिया। ईसाईयों के तीन संप्रदाय है- कैथोलिक, प्रोटेस्टेंट और ऑर्थोडॉक्स। इन मुख्‍य ...
18
19
लंकाधिपति रावण शिवजी का परम भक्त था। रावण की शिवभक्ति के किस्से कई मिलते हैं। आओ जानते हैं उसकी शिवभक्ति के 3 रोचक किस्से।
19