0

गरुड़ पुराण क्या है, जीवन और मृत्यु की 10 बातें आपकी सोच बदल देगी

शुक्रवार,सितम्बर 9, 2022
0
1
भारत के उत्तराखंड में 9 सितंबर को हिमालय दिवस मनाया जाता है। प्रदेश में हिमालय दिवस मनाने की शुरुआत वर्ष 2010 में हुई थी। हिमालय दिवस मानने का उद्देश्य हिमालय के संवरक्षण के साथ ही यहां की संस्कृति और इतिहास को दर्शाना भी है। स बार मुख्य कार्यक्रम ...
1
2
प्रातिवर्ष भाद्रपद की सप्तमी को महालक्ष्मी को विराजमान करके अष्टमी के दिन पूजा होती है। भारत में कई जगहों पर यह पर्व 8 दिन तो कई स्थानों पर 16 दिनों तक मनाया जाता है। इस मान से 3 सितंबर को यह व्रत प्रारंभ होकर इस व्रत का समापन 17 ‍सितंबर 2022 को ...
2
3
हिन्दू धर्म में गुरुवार के बाद रविवार के सबसे उत्तम दिन माना जाता है। रविवार को लगभग सभी लोगों की छुट्टी रहती है। इस दिन लोग शॉपिंग करते हैं और घुमने-फिरने जाते हैं। कई लोग इस दिन सोते रहते हैं और अपनी थकान भी मिटाते हैं। परंतु रविवार का खासा महत्व ...
3
4
अश्‍वमेध या अश्वमेघ यज्ञ के बारे में कई तरह की भ्रांतियां फैली हुई हैं। आखिर जानते हैं कि यह यज्ञ क्या होता है और क्यों इसके अश्‍व अर्थात घोड़े को छोड़ा जाता है राज्य की सीमाओं के बाहर। यहां प्रस्तुत है अश्वमेघ यज्ञ के बारे में संक्षिप्त और सामान्य ...
4
4
5
Mahakal sawari 2022: श्रावण और भादो मास में उज्जैन में प्रति सोमवार को महाकाल बाबा सावारी निकाली जाती है। आज यानी 22 अगस्त 2022 को महाकाल की शाही सवारी निकाली जा रही है। यह भाद्रमाह की अंतिम सवारी होगी। चांदी की पालकी में विराजकर बाबा अपने भक्तों को ...
5
6
Hinduism : सनातन हिन्दू धर्म के ज्ञान और संतों के प्रयासों के चलते वर्तमान में हिन्दू धर्म विश्व के कई देशों में लोकप्रिय हो चला है। बताया जा रहा है कि आने वाले समय में विश्व में 15 ऐसे देश हैं जो हिन्दू बहुल जनसंख्‍या वाले हो जाएंगे। हजारों की ...
6
7
20 traditions of 18 Puranas, your life will change: पुराण का शाब्दिक अर्थ है- प्राचीन आख्यान या पुरानी कथा। पुराणों में दर्ज है प्राचीन भारत का इतिहास। इसमें प्राचीन कथाओं के साथ ही ज्ञान, विज्ञान और धर्म की कई गहन गंभीर बातें भी समाहित हैं। आओ ...
7
8
देशभर में जो ज्योर्तिलिंग है वे सभी स्वंभू है परंतु पत्थर के शिवलिंग के अलावा शिवलिंग कई प्रकार और पदार्थ या धातु से बनाए जाते हैं। शिवपुराण अनुसार भगवान विष्णु ने पूरे जगत के सुख और कामनाओं की पूर्ति के लिए भगवान विश्वकर्मा को अलग-अलग तरह के ...
8
8
9
शिवपुराण अनुसार भगवान विष्णु ने पूरे जगत के सुख और कामनाओं की पूर्ति के लिए भगवान विश्वकर्मा को अलग-अलग तरह के शिवलिंग बनाकर देवताओं को देने की आज्ञा दी। विश्वकर्मा ने अलग-अलग पदार्थो, धातु व रत्नों से शिवलिंग बनाए। जैसे पारद, मिश्री, जौं चावल, ...
9
10
आओ जानते हैं कि गंगाजल की पवित्रता की 10 महत्वपूर्ण बातें।
10
11
Type of deepak ka kya fayda: दीपक कई प्रकार के होते हैं, जैसे चांदी के दीपक, मिट्टी के दीपक, लोहे के दीपक, ताम्बे के दीपक, पीतल की धातु से बने हुए दीपक, कांसे का दीपक तथा आटे से बनाए हुए दीपक। आओ जानते हैं कि कौन-सा दीप किस कामना के लिए जलाया जाता ...
11
12
हिन्दू धर्म में मंदिरों में ध्यान, साधना, पूजा-पाठ के साथ ही भजन, कीर्तन और आरती का भी खासा महत्व बताया गया है। प्राचीन मंदिरों में तो नृत्य, कला, योग और संगीत की शिक्षा भी दी जाती थी। आओ जानते हैं मंदिर में भजन या आरती के समय बजाए जाने वाले प्रमुख ...
12
13
भारतीय राज्य उत्तराखंड में गिरिराज हिमालय की केदार नामक चोटी पर स्थित देश के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक सर्वोच्च केदारेश्वर ज्योतिर्लिंग का मंदिर। इस संपूर्ण क्षेत्र को केदारनाथ धाम के नाम से जाना जाता है। यह स्थान छोटा चार धाम में से एक है। ...
13
14

क्या है हिन्दू धर्म, जानिए

मंगलवार,फ़रवरी 15, 2022
हिन्दू धर्म को विश्‍व का सबसे प्राचीन धर्म माना जाता है। इस धर्म की उत्पत्ति कब हुई, कौन है इस धर्म के संस्थापक, क्या है इस धर्म के धर्मग्रंथ का नाम और कितने हैं धर्मग्रंथ, क्या है इसका दर्शन, सिद्धांत, इतिहास और कितने हैं इसके संप्रदाय। आओ जानते ...
14
15
हाल ही में हिंदू, हिंदुत्व और हिंदुइज्म को लेकर नेताओं ने अपनी अपनी राय जाहिर की है जिसको लेकर विवाद भी हुआ है। राहुल गांधी हिंदू और हिंदुत्व में फर्क करते हैं और कहते हैं कि हिंदुत्व नफरत सिखाता है। राहुल गांधी कहते हैं कि जो लोग समस्या का सामना ...
15
16
हिन्दू धर्म में ब्रह्मांड और समय को लेकर जो वृहत्तर धारणा है इसी के आधार पर पौराणिक इतिहास को प्रतिष्‍ठित और अनुष्ठानों को संपन्न किए जाने का क्रम प्राचलित रहा है। आओ पढ़ते हैं मथुरा श्रीजी पीठ के आनंद बाबा द्वारा वेबदुनिया को भेजे गए एक विशेष लेख ...
16
17
रंगों का हमारे जीवन में बहुत महत्व है। वैज्ञानिकों के अनुसार रंग तो मूलत: पांच ही होते हैं- कला, सफेद, लाल, नीला और पीला। काले और सफेद को रंग मानना हमारी मजबूरी है जबकि यह कोई रंग नहीं है। इस तरह तीन ही प्रमुख रंग बच जाते हैं- लाल, पीला और नीला। ...
17
18
किसी पर्व, विवाह, मंगल कार्य, शुभ मांगलिक अवसरों पर अक्सर महिलाएं 16 श्रृंगार करती है। करवा चौथ हरियाली तीज पर भी महिलाएं सजती और संवरती हैं। सौभाग्य के लिए किए यह श्रृंगार किया जाता है। सजने-संवरने के लिए महिलाएं कई तरह के सौंदर्य प्रसाधनों का ...
18
19
जब कोई देह छोड़ता है तो वह उसके कर्मों के अनुसार कई तरह की संभावनाएं बनती है। पहला यह कि वह अन्य योनी धारण कर लेता है, दूसरा पितृलोक चला जाता है, तीसरा वह कई काल तक प्रेत योनी में भटकता रहता है और चौथा वह अनिश्‍चितकाल तक
19