रूस ने किया नई मिसाइल का परीक्षण, पुतिन की पश्चिमी देशों को चेतावनी, बोले- हमें धमकाने वालों को 2 बार सोचना पड़ेगा...

Last Updated: गुरुवार, 21 अप्रैल 2022 (00:04 IST)
हमें फॉलो करें
पर हमले को लेकर को घेर रहे पश्चिमी देशों को एक बार फिर राष्‍ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने चेतावनी दी है। पुतिन ने कहा कि हमने सरमट इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइलों का सफल परीक्षण किया है। उन्होंने कहा कि यह दुश्मनों को कोई कदम उठाने से पहले 2 बार सोचने के लिए मजबूर करेगा। हमें धमकाने वाले हमारी ओर बढ़ने से पहले अच्छे से सोच लें।
खबरों के अनुसार, रूस के परमाणु हथियारों को ले जाने में सक्षम सरमट बैलिस्टिक मिसाइल के सफलतापूर्वक परीक्षण के बाद बुधवार को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने ये बात कही है।

पुतिन ने कहा कि सरमट रूस की अगली पीढ़ी की मिसाइलों में से एक है। यह वास्तव में अनूठा हथियार है, जो हमारे सशस्त्र बलों की युद्ध क्षमता को मजबूत करेगा। हमारे देश को धमकाने की कोशिश करने वालों को 2 बार सोचने पर मजबूर करेगा।

गौरतलब है कि दोनों देश एक-दूसरे के सामने झुकने के लिए तैयार नहीं हैं। रूसी सेना आए दिन जहां और भी अधिक हमलावर होती जा रही है वहीं यूक्रेनी सेना अमेरिका और अन्य बड़े देशों की मदद से युद्ध में डटकर खड़ी है।

इस बीच यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय के खुफिया निदेशालय ने कहा है कि रूस अपने कब्जे वाले क्षेत्रों से यूक्रेनी नागरिकों को जबरन यहां से ले जाने की तैयारी कर रहा है। रूस यूक्रेनी नागरिकों को उनके ही देश के खिलाफ लड़ने के लिए भेजने की तैयारी में है।

महासचिव बोले मुलाकात के इच्छुक :

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की को पत्र लिखकर 'यूक्रेन में शांति बहाली के वास्ते तत्काल कदमों पर चर्चा करने के लिए' मॉस्को और कीव में उनकी अगवानी करने को कहा है।

महासचिव के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने संवाददाताओं से कहा कि मंगलवार दोपहर दो अलग-अलग पत्र रूस और यूक्रेन के स्थायी मिशनों को सौंपे गए। दुजारिक ने कहा कि इन पत्रों में महासचिव ने पुतिन से उन्हें मॉस्को में और जेलेंस्की को कीव में उनकी अगवानी करने के लिए कहा है।

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने पत्र में उल्लेख किया है कि यूक्रेन और रूस दोनों संयुक्त राष्ट्र के संस्थापक सदस्य हैं और हमेशा से इस संगठन के प्रबल समर्थक रहे हैं।



और भी पढ़ें :