ऑटोमोबाइल 2010 : शानदार रहा यह साल

भाषा|
वाहनों की रिकॉर्ड बिक्री ने इस साल को वाहन क्षेत्र के लिए खास बना दिया। इस साल वाहन क्षेत्र में कई अहम बातें दिखीं जिसमें मारुति-800 की बड़े शहरों से विदाई, हीरोहोंडा मोटर्स लि. के दोनों भागीदारों- हीरो समूह और जापानी कंपनी होंडा के बीच 26 साला पूरानी संधि की समाप्ति और नैनो की रफ्तार में कमी आदि शामिल हैं।


नौ प्रतिशत की आर्थिक वृद्धि दर्ज करने वाले देश में जुलाई और अक्टूबर के बीच ऑटो कंपनियों ने रिकॉर्ड बिक्री दर्ज की और इस दौरान बिक्री में औसतन 30 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई। इसी साल, भारतीयों ने बुगाती की 16 करोड़ रुपए की वेरान को भी भारत में उतरते देखा और इसी क्रम में एस्टन मार्टिन एवं स्पाइकर कार्स भी अपने वाहन पेश करने की तैयारी कर रही हैं।
यह साल हीरो होंडा की 26 साल पुरानी दोस्ती खत्म होने के लिए भी जाना जाएगा। विश्व की सबसे बड़ी दुपहिया वाहन कंपनी हीरो होंडा में जापानी साझीदार होंडा अपनी 26 प्रतिशत हिस्सेदारी बीएम मुंजाल प्रवर्तित हीरो समूह को बेच रही है। इसी साल और एक दोस्ती टूटी जब लोगन कार बनाने वाली कंपनी महिन्द्रा रेनो प्राइवेट लिमिटेड में महिन्द्रा एंड महिन्द्रा ने 49 प्रतिशत हिस्सेदारी फ्रांस की कंपनी रेनो से खरीद ली।
अप्रैल में बीएस-4 उत्सर्जन नियम लागू होने के साथ देश की पहली आम लोगों की कार मारुति-800 बड़े शहरों से बाहर हो गई। वहीं आज की जमाने की आम लोगों की कार नैनो में आग पकड़ने की घटना से इसकी बिक्री काफी प्रभावित हुई है। इस दौरान कंपनियों ने कई नए मॉडल लांच किए जिनमें मारुति सुजुकी की इको, फोर्ड की फिगो, फाक्सवैगन की पोलो और वेंटा एवं निसान की माइक्रा शामिल है।
अधिग्रहण एवं विलय के नजरिए से भी यह साल काफी महत्वपूर्ण रहा और इस दौरान जहाँ वैश्विक कंपनियाँ भारत में अपनी पैठ मजबूत करने में जुटी रहीं, वहीं महिन्द्रा एंड महिन्द्रा दक्षिण कोरियाई वाहन कंपनी सैंगयोंग मोटर को 2105 करोड़ रुपए में खरीदने के करीब है।

महिन्द्रा ने इस साल की शुरुआत में रेवो इलेक्ट्रिक कार कंपनी में 55.2 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी थी। दूसरी ओर, रेनो-निसान और बजाज ऑटो के बीच 2500 डॉलर की सस्ती कार वाली परियोजना को आगे बढ़ाने की सहमति बनी। यह कार 2012 में आने की संभावना है। (भाषा)



और भी पढ़ें :