बुजुर्ग महिला की अजीब मांग से बेटे-बहू परेशान, मांगा 5 करोड़ का हर्जाना

एन. पांडेय| पुनः संशोधित शुक्रवार, 13 मई 2022 (08:52 IST)
हमें फॉलो करें
हरिद्वार। हरिद्वार की एक बुजुर्ग महिला साधना ने अपने बेटे - बहू के खिलाफ संतान पैदा न करने का आरोप लगाते हुए पौत्र या पौत्री के सुख से वंचित करने का आरोप लगाया है।

उन्होंने मामले को न्यायालय में ले जाते हुए ऐसा न किए जाने पर बेटे और बहू से 5 करोड़ रुपए की राशि दिलाने की मांग की है। बेटे और बहू के खिलाफ घरेलू हिंसा की धाराओं के अंतर्गत न्यायालय में वाद भी दायर किया है।

बुजुर्ग महिला के वकील अरविंद कुमार श्रीवास्तव के अनुसार घरेलू हिंसा अधिनियम की धारा 12 के तहत यह वाद हरिद्वार के SJM तृतीय कोर्ट तृतीय में दायर किया गया है। तृतीय एसीजेएम एसडी कोर्ट ने दायर वाद में 17 मई की डेट लगा दी है। कोर्ट ने स्थानीय संरक्षण अधिकारी से रिपोर्ट तलब की है।
अधिवक्ता अरविंद कुमार श्रीवास्तव के अनुसार सिडकुल स्थित हरिद्वार ग्रीन निवासी महिला साधना प्रसाद ने पुत्र व पुत्रवधू के अलावा चार अन्य को भी पार्टी बनाते हुए उनके खिलाफ भी वाद दायर किया है। महिला ने कहा कि उनका एकमात्र बेटा है। बेटे की परवरिश में कोई कमी न हो अन्य संतान भी पैदा नहीं की। उसे पायलट बनाया।

वर्तमान में श्रेय सागर प्रतिष्ठित एयरलाइन कंपनी में पायलट कैप्टन है। बुजुर्ग महिला साधना प्रसाद ने वाद में बताया है कि उन्होंने बेटे को पायलट बनाने के लिए अमेरिका से प्रशिक्षण दिलाया। इसमें पैंतीस लाख रुपए की फीस लगी। बेटे के रहन सहन में उन्होंने कोई कमी नहीं आने दी। इस पर बीस लाख रुपए खर्च आया। पुत्र व पुत्रवधू की खुशी के लिए 65 लाख की ऑडी कार लोन लेकर खरीद कर दी है।
दिसंबर 2016 में उन्होंने अपने बेटे श्रेय सागर की शादी नोएडा के सेक्टर 75 की रहने वाली युवती से की। हनीमून पर नवविवाहित दंपति को थाईलैंड भेजा। महिला का कहना है कि जब उन्होंने अपने बेटे व बहू से एक पौत्र या पौत्री के लिए आग्रह किया तो पुत्रवधू रोजाना झगड़ा करने लगी। महिला ने दोनों पर पौत्र व पौत्री के सुख से वंचित कर मानसिक पीड़ा व उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है।



और भी पढ़ें :