Indigo के विमान में दिखा धुआं, DCGA ने शुरू की जांच

Last Updated: बुधवार, 6 जुलाई 2022 (21:58 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। इंडिगो (Indigo) की रायपुर-इंदौर उड़ान के चालक दल के सदस्यों ने मंगलवार को विमान के गंतव्य पर उतरने के बाद उसमें धुआं देखा। हालांकि सभी यात्री विमान से सुरक्षित उतर गए। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DCGA) घटना की जांच कर रहा है।वहीं दूसरी ओर दिल्ली हवाई अड्डे पर उतरने के बाद के विमान के एक इंजन में खराबी आ गई। हालांकि इसके भी सभी यात्रियों को सुरक्षित उतार लिया गया।
यह जानकारी विमानन नियामक डीजीसीए के अधिकारियों ने बुधवार को दी। अधिकारियों ने बताया कि सभी यात्री विमान से सुरक्षित उतर गए। अधिकारियों ने कहा कि नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) घटना की जांच कर रहा है। इंडिगो ने इस मामले पर बयान के लिए अनुरोध का जवाब नहीं दिया।

अधिकारियों ने कहा कि ए320 विमान के उतरने के बाद विमान के चालक दल के सदस्यों ने केबिन में धुआं देखा।पिछले 18 दिनों में स्पाइसजेट के विमानों में तकनीकी खराबी की आठ घटनाओं के बाद विमानन नियामक डीजीसीए ने बुधवार को स्पाइसजेट को कारण बताओ नोटिस जारी किया।

विस्तारा एयरलाइन के विमान का इंजन हुआ खराब, सभी यात्री सुरक्षित : दिल्ली हवाई अड्डे पर उतरने के बाद विस्तारा एयरलाइन के विमान के एक इंजन में खराबी आ गई। हालांकि सभी यात्रियों को सुरक्षित उतार लिया गया। इस विमान ने बैंकाक से उड़ान भरी थी। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने बुधवार को यह जानकारी दी।

एयरलाइन ने कहा कि मंगलवार को इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरने के बाद विमान के एक इंजन में मामूली खराबी आई थी। डीजीसीए के अधिकारियों ने बताया कि रनवे से हटने के बाद विमान का इंजन संख्या-2 बंद कर दिया गया क्योंकि पायलट इंजन संख्या-1 का इस्तेमाल कर एकल इंजन से संचालन करना चाहते थे।

हालांकि बाद में इंजन संख्या-1 ने भी काम करना बंद कर दिया, जिसके बाद विमान को अन्य वाहन की सहायता से हटाया गया। उन्होंने बताया कि विमान से सभी यात्रियों को सुरक्षित उतार लिया गया।

स्पाइस जेट विमानों की निरीक्षण प्रक्रिया को करेगी मजबूत : स्पाइस जेट के अध्यक्ष एवं सह प्रबंध निदेशक (सीएमडी) अजय सिंह ने बुधवार को कहा कि उनकी विमानन कंपनी उड़ानों के पहले विमानों के निरीक्षण की प्रक्रिया को मजबूत बनाएगी और दोगुनी सावधानी बरतेगी।

विमानन कंपनी के विमानों में पिछले 18 दिनों में तकनीकी खराबी की आठ घटनाओं के बाद विमानन नियामक डीजीसीए ने बुधवार को स्पाइस जेट को कारण बताओ नोटिस जारी किया।

सिंह ने कहा, हम यह सुनिश्चित करने के लिए उनके (डीजीसीए) साथ मिलकर काम करेंगे कि अगर उन्हें ऐसा लगता है कि हमारी प्रणाली में कोई खामी हैं, तो हम उन्हें दूर करेंगे। सुरक्षा से ज्यादा महत्वपूर्ण और कुछ भी नहीं है। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ हफ्तों में जो भी घटनाएं हुई हैं, उनका कलपुर्जों की कमी से कोई लेना-देना नहीं है।

नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने कंपनी को जारी कारण बताओ नोटिस में सितंबर 2021 में हुए स्पाइस जेट के वित्तीय ऑडिट का जिक्र किया है। इसके अनुसार कंपनी उन सहयोगी कंपनियों को नियमित भुगतान नहीं कर रही है जिससे कलपुर्जों की कमी हो गई है।

सिंह ने कहा, बताई जा रही इन घटनाओं में से कई अपेक्षाकृत मामूली प्रकृति की हैं और हर विमानन कंपनी में ऐसी घटनाएं होती हैं। इसमें कुछ भी अनोखापन नहीं है। उन्होंने कहा कि जब आपके पास हजारों उड़ानें हों, तो कभी एयर कंडीशनर काम नहीं करेगा, कभी कोई पक्षी विमान से टकरा जाएगा, और कभी-कभी ईंधन संकेतक चालू हो जाएगा।

उन्होंने कहा, ऐसी चीजें होती रहती हैं और निश्चित तौर पर हमें इसे यथासंभव कम से कम करना होगा। यह हमारी जिम्मेदारी है और नियामक का काम हमें चीजों को बेहतर बनाने के लिए प्रेरित करना है और हम वैसा करेंगे।

यह पूछे जाने पर कि अब स्पाइस जेट सुरक्षा चिंताओं से निपटने के लिए क्या बदलाव लाएगी, उन्होंने कहा, हमें दोगुना सावधान रहना होगा। हम उड़ानों के लिए रवाना होने से पहले विमानों की गहन जांच करेंगे, हम पहले से ही ऐसा कर रहे हैं, लेकिन हम निरीक्षण प्रक्रिया को और मजबूत बनाएंगे।

उन्होंने कहा कि कंपनी ने डीजीसीए को उसके कामकाज पर एक नज़र डालने को कहा है क्योंकि इसके द्वारा अपनाई जाने वाली प्रक्रियाओं का नियामक द्वारा कई बार ऑडिट किया गया है।(एजेंसियां)



और भी पढ़ें :