भीषण गर्मी से भट्ठी बन गई राजधानी दिल्ली, 49 डिग्री तक पहुंचा पारा, जानें कब मिलेगी राहत

Last Updated: रविवार, 15 मई 2022 (21:25 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी और इसके आसपास के इलाकों में रविवार को भीषण गर्मी तथा लू का प्रकोप रहा। उत्तर पश्चिमी दिल्ली के मुंगेशपुर में पारा जहां 49.2 डिग्री सेल्सियस को पार गया, वहीं दक्षिण-पश्चिमी दिल्ली के नजफगढ़ में अधिकतम तापमान 49.1 डिग्री दर्ज किया गया।

के मुताबिक स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में पारा 48.4 डिग्री दर्ज किया गया जबकि जफरपुर, पीतमपुरा और रिज में तापमान क्रमश: 47.5 डिग्री, 47.3 डिग्री और 47.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

सफदरजंग वेधशाला जहां के आंकड़ों को दिल्ली का मानक माना जाता है, वहां भी अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री अधिक 45.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। यह इस साल अब तक का सबसे अधिक तापमान है।
भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शनिवार को सफदरजंग वेधशाला में अधिकतम तापमान 44.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया था। वहीं, शुक्रवार को वहां अधिकतम तापमान 42.5 डिग्री सेल्सियस रहा था। 27 मई 2020 को सफदरजंग में अधिकतम तापमान 46 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

शहर के आयानगर, पालम और लोधी रोड वेधशाला में तापमान में वृद्धि देखी गई और इन वेधशालाओं में अधिकतम तापमान क्रमश: 46.8 डिग्री, 46.4 डिग्री और 45.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। राष्ट्रीय राजधानी के सभी मौसम केंद्रों में लू दर्ज की गई।
मौसम वैज्ञानिकों ने बताया कि पंजाब और हरियाणा के ऊपर बने चक्रवाती संचरण की वजह से मानसून पूर्व की गतिविधियां होंगी। इसकी वजह से सोमवार और मंगलवार को गर्मी से कुछ राहत मिल सकती है। आईएमडी ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार को धूल भरी आंधी चलने की संभावना है।

कमजोर पश्चिमी विक्षोभ की वजह से बारिश की कमी रही और दिल्ली में वर्ष 1951 के बाद से इस बार अप्रैल सर्वाधिक गर्म रहा। इस साल अप्रैल में औसतन अधिकतम तापमान 40.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अप्रैल के आखिर में लू की वजह से शहर के कई हिस्सों में अधिकतम तापमान 46 से 47 डिग्री तक पहुंच गया था।
दिल्ली में अप्रैल के महीने में महज 0.3 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई जबकि मासिक औसत 12.2 मिलीमीटर है। मार्च महीने में भी यहां बारिश नहीं हुई जबकि मासिक औसत 15.9 मिलीमीटर है। आईएमडी ने मई में भी सामान्य से अधिक तापमान होने का पूर्वानुमान लगाया है।

आईएमडी के मुताबिक, अधिकतम तापमान करीब 40 डिग्री होने और कम से कम सामान्य से 4.5 डिग्री अधिक तापमान होने पर लू की घोषणा की जाती है। गंभीर लू घोषित करने के लिए अधिकतम तापमान सामान्य से कम से कम 6.4 डिग्री अधिक होना चाहिए।
पंजाब और हरिणाणा में भीषण गर्मी : पंजाब और हरियाणा में लोगों को लगातार भीषण गर्मी का सामना करना पड़ रहा है और रविवार को तापमान सामान्य से काफी ऊपर बना रहा। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।
मौसम विभाग के अनुसार हरियाणा के गुरुग्राम में 48.1 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया और इस तरह यह दोनों राज्यों में सबसे गर्म स्थान रहा जबकि ज्यादातर स्थानों पर अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस से अधिक रहा। पंजाब के मुक्तसर में भी भीषण गर्मी का दौर जारी रहा, जहां दिन का तापमान 47.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
मौसम अधिकारियों के अनुसार, हरियाणा के हिसार में अधिकतम तापमान 47.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सिरसा में अधिकतम तापमान 47.2 डिग्री जबकि रोहतक में अधिकतम 46.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। भिवानी में अधिकतम तापमान 46 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
अंबाला में अधिकतम तापमान 42.1 डिग्री सेल्सियस जबकि करनाल में अधिकतम तापमान 42.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दोनों राज्यों की साझा राजधानी चंडीगढ़ में भी लोगों को भीषण गर्मी का सामना करना पड़ा जहां अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

इस बीच, पंजाब के बठिंडा में अधिकतम तापमान 46.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया जबकि अमृतसर में 46.1 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। लुधियाना में अधिकतम तापमान 45.5 डिग्री जबकि पटियाला में अधिकतम तापमान 44.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
जालंधर और होशियारपुर में अधिकतम तापमान क्रमश: 46.2 डिग्री और 46.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मोगा में अधिकतम तापमान 46.1 डिग्री जबकि फिरोजपुर में अधिकतम तापमान 46.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इस बीच मौसम विभाग ने मंगलवार को दोनों राज्यों में भीषण गर्मी से कुछ राहत मिलने का अनुमान जताया है।

विभाग ने कहा कि अगले 24 घंटों के दौरान मौसम शुष्क रहने की संभावना है जबकि अगले 48 घंटों में छिटपुट स्थानों पर हल्की बारिश होने का अनुमान है। मौसम कार्यालय ने कहा कि 16 और 17 मई को पंजाब और हरियाणा में अलग-अलग स्थानों पर धूल भरी आंधी और तेज हवाएं चलने का अनुमान है।

कार्यालय ने पंजाब और हरियाणा में अगले 24 घंटों के दौरान कई स्थानों पर लू की स्थिति बने रहने का अनुमान जताया है। इसने कहा कि हालांकि इसके बाद दोनों राज्यों में तापमान में दो से चार डिग्री की गिरावट आ सकती है।

मप्र में 47 डिग्री तापमान :
मध्यप्रदेश में भीषण गर्मी और तीव्र लू का प्रकोप जारी है और दिन का सबसे अधिक तापमान नौगांव और खजुराहो में 47.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

स्थानीय मौसम केंद्र के अनुसार नागरिकों को दिन में गरम हवाओं का भी सामना करना पड़ रहा है। दिन के साथ ही रात्रि के तापमान में भी बढ़ोतरी हुई है। पिछले 24 घंटों के दौरान बुंदेलखंड अंचल के खजुराहो और नौगांव में तीव्र लू का प्रकोप रहा और तापमान 47.4 डिग्री दर्ज किया गया, जो प्रदेश में सबसे अधिक रहा। कल भी यहां पर दिन का तापमान 47 डिग्री के पार था।

रीवा, सतना, सीधी, छिंदवाड़ा, सागर, दमोह, राजगढ्, दतिया, गुना और ग्वालियर जिलों में लू का प्रकोप रहा। दिन के तापमान जबलपुर संभाग के जिलों में काफी बढ़े और शेष संभाग के जिलों में पहले की तरह 42 से 46 डिग्री तक दर्ज किए गए।
24 घंटों के दौरान छतरपुर, टीकमगढ़ और निवाड़ी जिलों में तीव्र लू चलने की आशंका जतायी गयी है। इसके अलावा चंबल, ग्वालियर और रीवा संभागों के जिलों में लू चलने की आशंका है।



और भी पढ़ें :