सुन्दरढूंगा ग्लेशियर से SDRF ने 5 दिन बाद 5 शवों को निकाला, गाइड अभी भी लापता

एन. पांडेय| पुनः संशोधित मंगलवार, 26 अक्टूबर 2021 (14:57 IST)
बागेश्वर। उत्तराखंड के बागेश्वर जिले के से ने पश्चिम बंगाल के 5 पर्यटकों के शवों को आखिरकार 5 दिन बाद रेस्क्यू कर लिया है। लेकिन स्थानीय गाइड खिलाफ सिंह दानू का अब तक कोई सुराग नहीं लग सका है।

सुन्दर ढुंगा घटी में ये पर्यटक 20 अक्टूबर को ये बर्फीले तूफान में फंस गए थे। मौसम खराब होने के चलते एसडीआरएफ की टीम को रेस्क्यू अभियान में काफी दिक्कतों का सामना करना पडा। लेकिन अंततः सोमवार शाम को पर्यटकों के शवों को खोजने में कामयाब हुई। रेस्क्यू टीम ने आज हेलीकॉप्टर से एन शवों को बागेश्वर पहुंचा दिया है।

जानकारी के मुताबिक, बंगाल के पांच पर्यटकों के साथ एक स्थानीय गाइड और चार पोर्टर खाती से सुंदरढूंगा ग्लेशियर के लिए 16 अक्टूबर को ट्रैकिंग पर निकले थे। 20 अक्टूबर को अचानक मौसम खराब होने और बर्फीले तूफ़ान की जद में आ जाने से पांचों पर्यटक मारे गए जबकि 4 पोर्टर घायल होकर किसी तरह जान बचा सकने में कामयाब हो घर लौट आए।
जिन पांच पश्चिम बंगाल के पर्यटकों की बर्फीले तूफान में फंसकर मौत हुई उनमे चंद्रशेखर दास ,सरित शेखर दास, सागर डे , प्रीतम राय , सधन बसक शामिल हैं।

बागेश्वर जिले में तीन स्‍थानों, सुंदरढूंगा, कफनी और पिंडारी ग्‍लेशियर में पर्यटक ट्रैकिंग के लिए जाते हैं, इस बार भी सभी जगह पर्यटक ट्रैकिंग के लिए गए लेकिन अचानक मौसम खराब होने से फंसे कई पर्यटक बचा लिए गए लेकिन सुन्दर ढुंगा में बर्फीले तूफ़ान की चपेट में आये पर्यटकों कू देर तक मौसम के गड़बड़ाए रहने से नहीं निकाला जा सका।



और भी पढ़ें :