कर्नाटक में 5000 से ज्यादा Corona केस, अकेले बेंगलुरु में 4324

Last Updated: गुरुवार, 6 जनवरी 2022 (19:53 IST)
हमें फॉलो करें
बेंगलुरु। देश में लगातार बढ़ते मामलों के बीच में पिछले 24 घंटों में 5000 से ज्यादा मामले सामने आए हैं, जबकि अकेले बेंगलुरु में 4324 कोरोना केस आए हैं।


जानकारी के मुताबिक कर्नाटक में पिछले 24 घंटे में 5 हजार 31 मामले सामने आए हैं। राज्य में पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 3.95 फीसदी हो गई है। हालांकि राज्य में गुरुवार को एक भी ओमिक्रोन का मामला सामने नहीं आया है। इस समय राज्य में ओमिक्रोन संक्रमितों की संख्या 226 है।
सरकार की चेतावनी : दूसरी ओर, कर्नाटक में कोविड-19 प्रतिबंध लागू होने के बावजूद कांग्रेस द्वारा पदयात्रा निकालने की अपनी योजना पर आगे बढ़ने के निर्णय के बीच राज्य के गृहमंत्री अरग ज्ञानेंद्र ने बृहस्पतिवार को आगाह किया कि नियमों के उल्लंघन पर कार्रवाई की जाएगी। कांग्रेस ने कावेरी नदी पर मेकेदातू परियोजना लागू करने की मांग पर बल देने के लिए नौ से 19 जनवरी तक पदयात्रा निकालने का निर्णय किया है।
Koo App
has vaccinated 1/3rd of the children in 15-17 yr age group in just 3 days! We have vaccinated 1️⃣1️⃣.1️⃣7️⃣ lakh of 31.75 lakh children in this age group as on Jan 5th. #vaccine #Covid @BSBommai @mansukhmandviya - Dr. Sudhakar K (@drsudhakark.official) 6 Jan 2022
कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डीके शिवकुमार और विधानसभा में विपक्ष के नेता सिद्धारमैया ने एक बार फिर दोहराया है कि वे पदयात्रा करने के फैसले पर आगे बढ़ेंगे। इन नेताओं ने कहा कि यदि सरकार ने उन्हें गिरफ्तार किया तो वे जेल जाने को भी तैयार हैं।
कांग्रेस की पदयात्रा मेकेदातू से 100 किलोमीटर दूर बेंगलुरु तक होगी। मेकेदातू परियोजना का पड़ोसी राज्य तमिलनाडु विरोध कर रहा है। ज्ञानेंद्र ने कहा कि इस समय राज्य महामारी से जूझ रहा है, लेकिन कांग्रेस जिम्मेदार विपक्ष की तरह बर्ताव नहीं कर रही है। कैसा बर्ताव करना है, यह मैंने उन पर ही छोड़ दिया है, जनता देख रही है।
वहीं, कांग्रेस नेता एवं पूर्व मुख्‍यमंत्री सिद्धारमैया ने भी कहा कि कांग्रेस सामाजिक दूरी और मास्क समेत अन्य कोविड संबंधी नियमों का पालन करते हुए पदयात्रा के निर्णय पर आगे बढ़ेगी। सरकार से अनुमति नहीं मिलने के सवाल पर सिद्धारमैया ने कहा कि हम अनुमति नहीं लेगें और पदयात्रा निकालेंगे, लेकिन हम नियमों का उल्लंघन नहीं करेंगे....उन्हें कार्रवाई करने दीजिए।



और भी पढ़ें :