ओमिक्रॉन के खतरे के मद्देनजर जिम कॉर्बेट पार्क में भी हाई अलर्ट, गाइडलाइन का करना होगा पालन

एन. पांडेय| Last Updated: शनिवार, 4 दिसंबर 2021 (11:52 IST)
देहरादून। के खतरे को देखते हुए में कर दिया गया है। पार्क निदेशक ने कॉर्बेट में 5 महीने बाद फिर से कोरोना को लेकर सतर्कता बरतने के आदेश जारी किए हैं। उन्होंने सभी अधिकारी-कर्मचारियों व पर्यटकों को मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है, वहीं ढिकाला समेत सभी प्रवेश द्वारों पर के निर्देश दिए गए हैं। कॉर्बेट निदेशक राहुल ने कोरोना के बदले स्वरूप ओमिक्रॉन पर चिंता जताई।
ALSO READ:

ओमिक्रॉन वैरिएंट पर मध्यप्रदेश में जल्द नई गाइडलाइन!, शादी-विवाह, समारोहों और बड़े कार्यक्रम को लेकर नई पाबंदी संभव

उन्होंने कहा कि कोरोना की पहली लहर में सरकार की गाइडलाइन के अनुसार ही कॉर्बेट में पर्यटन व्यवस्था संचालित की गई। दूसरी लहर में भी गाइडलाइन का सख्ती से पालन कराया गया। हालांकि इस बीच कई महीनों तक पार्क को बंद करना पड़ा। संक्रमण की दर घटने पर सरकार के आदेश के अनुसार ही पर्यटकों को छूट दी गई। अब कोराना के नए स्वरूप ओमिक्रॉन से खतरा पैदा हो रहा है।


खतरे को देखते हुए कॉर्बेट पार्क में मास्क, सैनिटाइजेशन, गेस्ट हाउसों में सोशल डिस्टेंसिंग के पालन का निर्णय लिया गया है, हालांकि सरकार की गाइडलाइन का इंतजार किया जा रहा है। कर्मचारी, अधिकारी व पर्यटकों को मास्क अनिवार्य पहनने को कहा गया है। कहने के बाद भी मास्क नहीं पहनने वालों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा।
उन्होंने कहा कि कोरोना के नए वायरस को लेकर पर्यटक भी मानकों का पालन करें।

निदेशक राहुल ने बताया कि कोरोना को लेकर कॉर्बेट पार्क में पहले से ही नियमों को सख्ती से लागू किया गया है। उन्होंने बताया कि कोरोना के नए स्वरूप ओमिक्रॉन को लेकर भी अलर्ट किया गया है। बगैर मास्क व अन्य मानकों की अनदेखी करने पर गाइडलाइन के अनुसार जुर्माने की कार्रवाई होगी। गाइडलाइन का इंतजार किया जा रहा है।



और भी पढ़ें :