चारधाम यात्रा के दौरान हार्ट अटैक से 98 की मौत, केदारनाथ में गई सबसे ज्यादा जान

एन. पांडेय| पुनः संशोधित शनिवार, 28 मई 2022 (08:55 IST)
हमें फॉलो करें
देहरादून। चारधाम में से मरने वालों की संख्या 98 पहुंच गई है। इनमें सर्वाधिक 43 श्रद्धालुओं की मौत केदारनाथ में हुई है।

रुद्रप्रयाग के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. बीके शुक्ला ने बताया केदारनाथ में अहमदाबाद (गुजरात) निवासी धानिश भाई बाबू भाई पटेल (32) और पटना (बिहार) निवासी भानु शंकर प्रसाद (71) की मौत हृदयाघात से हुई। पुणे (महाराष्ट्र) निवासी शुभांगी चौरंगी (57), छत्तीसगढ़ निवासी रमाबाई यादव (80) और हजारीबाग (झारखंड) निवासी गजूमेटो (62) ने शुक्रवार को में दम तोड़ा।
बदरीनाथ धाम से दर्शन कर लौट रहे आंध्र प्रदेश के अलमुरु (पश्चिम गोदावरी) निवासी डी.कृष्णा रेड्डी (62) की मौत श्रीकोट - श्रीनगर स्थित बेस अस्पताल में हुई। यमुनोत्री में अब तक 25 श्रद्धालुओं की मौत हो चुकी है गंगोत्री में अब तक 5 लोगों की मौत हो चुकी है। बद्रीनाथ में 20 तीर्थयात्री अब तक मृत्यु को प्राप्त हो चुके हैं। ऋषिकेश में 5 श्रद्धालु चारधाम जाते हुए दम तोड़ चुके हैं।
शुक्रवार तक पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की संख्या 11 लाख 45 हजार 231 हो गई है। शुक्रवार को केदारनाथ में 14 हजार 7 सौ 38 दर्शनार्थी पहुंचे जबकि बद्रीनाथ में पहुंचे दर्शनार्थियों की संख्या 22 हजार 179 रही। गंगोत्री में 8 हजार 9 सौ 60 तीर्थयात्री आए तो यमुनोत्री में पहुंचने वाले यात्रियों की संख्या 7 हजार 2 सौ 77 रही। पांचवें धाम हेमकुंट साहिब में 1 हजार 5 सौ 42 तीर्थयात्रियों ने गुरुद्वारे में माथा टेका।
यात्रा शुरू होने से अब तक सर्वाधिक यात्री बद्रीनाथ के दर्शन को पहुंचे हैं। यहां 3 लाख 82 हजार 279 लोग दर्शन कर चुके हैं जबकि केदारनाथ में अब तक 3 लाख 67 हजार 890 यात्री पहुंच चुके हैं।



और भी पढ़ें :