भगतसिंह के नाम पर युवाओं को बना रहा जेहादी ISIS

भगतसिंह देश को अंग्रेजों की गुलामी से आजादी दिलाने के लिए शहीद हो गए पर मुंबई से इस्‍लामिक स्‍टेट (आईएसआईएस) के गिरफ्तार कथित आतंकी मुदाबिर शेख ने शहीद भगत को लेकर एक चौंकाने वाला खुलासा किया है।
 
मुंब्रा से गिरफ्तार मुदाबिर शेख ने बताया कि आईएस के हैंडलर पूरी तरह से ब्रेनवॉश कर देते हैं। उसने बताया कि वह सोशल मीडिया के जरिए सीरिया के हैंडलर 'यूसुफ' के संपर्क में था और वह उसे भारत के स्‍वतंत्रता सेनानी भगतसिंह का उदाहरण दिया करते थे। ये बात दोनों के बीच हुई बातचीत से भी साफ होती है।
 
इंडियन एक्‍सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, शेख ने पूछताछ के दौरान एनआईए की टीम को बताया कि उसे लगता था कि उसका काम भी भगतसिंह की तरह ही है। क्‍योंकि उन्‍होंने भी बम फेंका था और ब्रिटिशर्स की हत्‍या की थी ताकि उन्‍हें देश से निकाला जा सके। हम भी वहीं कर रहे हैं।
 
शेख ने बताया कि उसे लगता था कि वह भारत में आईएस के लिए लोगों को भर्ती करने वाला है। इसके लिए शेख ने की भारतीय इकाई जनूद-उल- खलीफा-ए-हिंद बनाई, जिसका उद्देश्‍य 26 जनवरी के दिन अलग-अलग जगहों पर विस्‍फोट करना था। सुरक्षा एजेंसियों ने इसी संगठन के 14 आतंकियों को गिरफ्तार कर चुकी है।
 
सुरक्षा एजेंसियों को अपनी विचारधारा बताते हुए शेख ने पूछताछ के दौरान कहा कि अमेरिका और ब्रिटिश जैसे देश भारत पर राज कर रहे हैं। स्विस खातों में पैसे को नियंत्रित करके ये देश हमारी सीमाओं के भीतर गरीबी पैदा कर रहे हैं। शेख ने पूछताछ के दौरान कहा कि उसका मानना है कि वह भारत के लिए पश्चिमी शक्तियों के खिलाफ जंग लड़ रहा था।
 
गौरतलब है कि शनिवार को विभिन्न जगहों से गिरफ्तार हुए 14 संदिग्ध लोगों के गुट का मुखिया मुदाबिर मुश्ताक शेख था। पूछताछ में जांच एजेंसी को पता चला था कि वह आतंकी संगठन इस्लामी स्टेट (आईएस) के मुखिया बगदादी की कोर टीम के सीधे संपर्क में था। उसे बताया गया था कि खुद बगदादी ने उसे भारत में आईएस के प्रमुख के तौर पर मंजूरी दी।
 
इससे शेख बेहद उत्साहित था। वह विभिन्न सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट पर भी लगातार सक्रिय था। वह देशभर में इस्लामी आतंकी संगठन का नेटवर्क खड़ा करना चाहता था। साथ ही उसे बताया गया था कि भारत में भी इस गुट का साम्राज्य स्थापित करना है जिसका मुखिया शेख खुद होगा। 
 
 



और भी पढ़ें :