पुंछ में आतंकियों से लोहा लेते हुए उत्तराखंड के 2 सपूतों ने दी शहादत

एन. पांडेय| पुनः संशोधित शुक्रवार, 15 अक्टूबर 2021 (18:07 IST)
देहरादून। पूरा दशहरा पर्व मना रहा है, लेकिन जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में आतंकी मुठभेड़ के दौरान उत्तराखंड के 2 जवानों के शहीद होने की खबर ने इस पर्व के बीच पूरे उत्तराखंड में शोक की लहर दौड़ा दी है। उत्तराखंड में उनके गांवों में शोक छा गया।


गुरुवार शाम से जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले के मेंढर में आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन के दौरान भारी गोलीबारी में उत्तराखंड के राइफलमैन विक्रम सिंह नेगी और योगंबर सिंह नाम के दोनों ही जवान गुरुवार को घायल हो गए थे। विक्रम सिंह नेगी की उम्र 26 साल और योगंबर सिंह की उम्र 27 साल है। उन्हें हॉस्पिटल ले जाया गया, लेकिन इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया।

शहीद विक्रम जिला टिहरी और रायफलमैन योगंबर जिला चमोली के रहने वाले थे। सैन्य प्रवक्ता द्वारा जानकारी दी गई है कि गुरुवार शाम से पुंछ जिले के मेंढर में काउंटर टेररिस्ट ऑपरेशन जारी है। ऑपरेशन के दौरान भारी गोलीबारी हुई। राइफलमैन विक्रम सिंह नेगी और राइफलमैन योगंबर सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए और बाद में उनकी मौत हो गई।
बीते हफ्ते में उत्तराखंड के ही विपिन सिंह और सुनीत सैनी भी शहीद हुए थे। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने दोनों शहीद सैनिकों की शहादत पर शोक ब्यक्त करते हुए कहा है कि राइफलमैन विक्रम सिंह नेगी और योगंबर सिंह ने देश सेवा के लिए अपने प्राणों का सर्वोच्च बलिदान दिया है, जिसको कभी भुलाया नहीं जा सकता है।



और भी पढ़ें :