महापंडित रावण रचित 13 अद्भुत ग्रंथ

learning of ravana
अनिरुद्ध जोशी| Last Updated: रविवार, 12 जुलाई 2020 (16:00 IST)
राम की गाथा वाल्मीकि अनुसार महाथा। रावण बहुत ही ज्ञानी महापंडित होने के साथ ही ज्योतिष, वास्तु और विज्ञान का ज्ञान भी रखता था। आओ जानते हैं रावण रचित 13 ग्रंथों की सूची।

1.: रावण ने अपने आराध्य शिव की स्तुति में 'शिव तांडव स्तोत्र' की रचना की थी।

2.रावण संहिता : रावण संहित रावण के जीवन और ज्योतिष की बेहतर जानकारियों का भंडार है।

3. दस शतकात्मक अर्कप्रकाश : चिकित्सा और तंत्र के क्षेत्र के चर्चित ग्रंथ।

4. दस पटलात्मक : चिकित्सा और तंत्र के क्षेत्र के चर्चित ग्रंथ।

5. उड्डीशतंत्र : चिकित्सा और तंत्र के क्षेत्र के चर्चित ग्रंथ।

6. कुमारतंत्र
:

चिकित्सा और तंत्र के क्षेत्र के चर्चित ग्रंथ।

7.नाड़ी परीक्षा : चिकित्सा और तंत्र के क्षेत्र के चर्चित ग्रंथ।

कहते हैं कि रावण ने ही 8.अरुण संहिता, 9.अंक प्रकाश, 10.इंद्रजाल, 11.प्राकृत कामधेनु, 12.प्राकृत लंकेश्वर, 13.रावणीयम आदि पुस्तकों की रचना भी की थी।



और भी पढ़ें :