राखियों के 13 प्रकार, सिलेक्ट करें अपने भाई के लिए सुंदर सी राखी

अनिरुद्ध जोशी|
बाजार में कई तरह की सुंदर सुंदर राखियां आ चुकी हैं। पहले सूत का धागा होता था, फिर नाड़ा बांधने लगे। फिर नाड़े जैसा एक फुंदा बांधने का प्रचलन हुआ। बाद में पक्के धागे पर फोम से सुंदर फुलों को बनाकर चिपकाया जाने लगा और अब वर्तमान में तो राखी के कई रूप हो चले हैं। आओ जानते हैं राखियों के प्रकार।

1. रुद्राक्ष राखी : इस राखी में मोतियों या फुंदों के बीच रुद्राक्ष लाग होता है।

2. ब्रेसलेट राखी : यह राखी ब्रेसलेट की तरह होती है। इसमें बीच में बड़ासा गोल नग लगा होता है और आसपास मोती या अन्य चमकते हुए नग लगे होते हैं। यह कई तरह की डिजाइन वाला होता है।

3. अमेरिकन डायमंड राखी : चांदी की पट्टी पर इस राखी में अमेरिकन डायमंड लगा होता और साथ में छोटे छोटे चमकते हुए नग लगे होते हैं।
4. लूंबा राखी : यह राखी पारंपरिक राखी है जो झूमर के आकार की होती है जिसमें मोतियों की लड़ी लगी होती है। दूसरा एक गोल रोल पर छोटे छोटे चमकते हुए नग लगे होते हैं और उस रोल के पासपास रंग बिरंगे मोती लगे होते हैं।

5. फ्लावरी राखी : एक पक्के रेशमी रंगीन धागे पर वेलवेट या फोम के सुंदर डिजाइन वाले फूल बनाकर उस पर चिपकाया या बांधे जाते हैं और उन फूलों के आस पास धागे में रंग-बिरेंगे मोती पिरोये होते हैं।

6. स्वास्तिक या ॐ की राखी : एक पक्के रेशमी रंगीन और डिजाइनर धागे पर प्लास्टिक या वेलवेट का ॐ या स्वास्तिक लगाया जाता है। कई बार यह बहुत अच्‍छी क्वालिटी का और बहुत डिजाइनर भी होता है।

7. चांदी की राखी : चांदी की चेन के बीच में चांदी का फूल या अन्य कोई डिजाइन लिए यह राखी थोड़ी महंगी होती है।

8. गोल्ड की राखी : चांदी की तरह ही गोल्ड राखी भी कई तरह की डिजाइन वाली होती है। इसमें खासकर सोने के मोती रहते हैं। इसी कुंदन की राखी भी बनती है जिसे रंगिन पत्‍थरों और मोतियों के साथ सजाया जाता है।

9. मोतियों की राखी : यह राखी खालिस मोतियों की होती है। एक पक्के रेशमी रंगीन और डिजाइनर धागे में मोतियों को पिरोया गया होता है जिसे बीच में बड़ासा सफेद मोती होता है और आसपास अन्य रंग बिरंगे मोती होते हैं।
10. रंगोली राखी : एक पक्के रेशमी रंगीन और डिजाइनर धागे के बीचों बीच रंगोली के आकार की डिजाइन होती है जिसे डिजाइनर राखी भी कहते हैं।

11. लटकन राखी : यह उस प्रकार की होती है जैसे महिलाएं अपनी मांग मांग टिका लगाती है या कान में झुमके पहने जाते हैं। अलग-अलग धागों में पांच मो‍ती पिरोते हैं और उन सभी धागों को मिलाकर एक बड़े से मोती में पिरोते हैं। सभी मोतियों के आसपास मखमली फूंदों को भी पिरोया गया होता है।

12. चूड़ा राखी : इस राखी का प्रचलन राजस्‍थान में ज्यादा है। यह राखी एक ऐसे कंगन की तरह होती है जिसमें से एक रेशम की डिजाइनर मोटी डोर बांधने के लिए निकली होती है।

13. फूंदा राखी : यह बहुत ही साधारण रेशमी धागे पर बंधने फूंदे होते हैं।

अन्य राखियां : इसी तरह अन्य कई और भी तरह के डिजाइन की राखी होती है जैसे कार्टून राखी, भगवानों के चित्र से सजी राखी, साईं राखी, जरदोरी राखी, मीनाकारी राखी, मोर डिजाइन की राखी, चंदन राखी, मौली, कछुआ राखी, कृष्ण राखी, नग-नगिनों की राखी, एक ओमकार सतनाम राखी, खांडा राखी आदि कई तरह की राखियां होती हैं।



और भी पढ़ें :