Punjab Assembly Election 2022: केजरीवाल का पंजाब में ईमानदार सरकार देने का वादा

Last Updated: मंगलवार, 15 फ़रवरी 2022 (19:07 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली/चंडीगढ़। 'आप' संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री ने आज मंगलवार को पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार बनने पर सभी जाति-धर्म के लोगों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने का भरोसा दिया। उन्होंने पूरे पंजाब को आश्वस्त करते हुए कहा कि हमारी सरकार बनने के बाद पंजाब के एक-एक पंजाबी की सुरक्षा की जिम्मेदारी हमारी होगी। मैं सभी को आश्वस्त करना चाहता हूं कि राष्ट्रीय सुरक्षा और आंतरिक सुरक्षा के मुद्दे पर हम किसी भी किस्म की राजनीति नहीं होने देंगे। केंद्र सरकार के साथ मिलकर पंजाब सरकार काम करेगी और पंजाब के लोगों की और देश की सुरक्षा को सुनिश्चित करेंगे।
ALSO READ:

पंजाब चुनाव से पहले अश्विनी कुमार का कांग्रेस से इस्तीफा, सोनिया को पत्र लिखकर बताई वजह

केजरीवाल ने कहा कि घटनाएं तब घटती हैं, जब उधर के लोग अपने नापाक इरादों के लिए इधर के कुछ लोगों को खरीदने में सफल हो जाते हैं। इसलिए अगर पंजाब में एक होगी तो वो बिकेगी नहीं और बॉर्डर पार से नशा, ड्रोन या टिफिन बम इस पार नहीं आने देगी। बॉर्डर पर ईमानदार पुलिस अफसरों की पोस्टिंग होगी और ऊपर से ठीक सिग्नल मिलेगा तो यही पंजाब पुलिस सभी को सुरक्षा देकर दिखाएगी।
पीएम की सुरक्षा को लेकर गंदी राजनीति हुई : केजरीवाल ने आज लुधियाना में पंजाब के 3 करोड़ लोगों की सुरक्षा के संबंध में एक महत्वपूर्ण प्रेस कॉन्फ्रेंस की और पंजाब के लोगों के मन में सुरक्षा को लेकर बैठी चिंता को दूर किया। केजरीवाल ने कहा कि कल एक आदमी मेरे पास आया और कहा कि मैं हिन्दू हूं। आज पंजाब में खासकर हिन्दुओं और व्यापारियों के मन में सुरक्षा को लेकर बहुत चिंता चल रही है। पंजाब एक बहुत ही बुरे आतंकवाद के दौर से गुजरा है इसलिए केवल हिन्दू ही नहीं, बल्कि सभी लोगों के मन में पंजाब की कानून-व्यवस्था और आंतरिक सुरक्षा को लेकर काफी चिंता रहती है कि किसी भी हालत में वापस वो दौर नहीं आने चाहिए।
उस व्यक्ति ने कहा कि पिछले दिनों की कुछ घटनाओं ने हमें चिंचित कर दिया। जिस तरह से भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के बीच में प्रधानमंत्री की सुरक्षा को लेकर एक गंदी राजनीति हुई, उससे खासकर हिन्दुओं के मन में चिंता है कि यह चल क्या रहा है? राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर इस किस्म की राजनीति अच्छी नहीं है। अगर ऐसी राजनीति होगी तो फिर सुरक्षा कौन देगा? पिछले कुछ महीनों के अंदर पंजाब में कई सारी घटनाएं घटी हैं, जगह-जगह टिफिन बम मिल रहे हैं, बॉर्डर से ड्रोन आते हैं, लुधियाना में बम ब्लास्ट हो गया और बेअदबी की घटनाएं हुईं।
कोरोना का अच्छे से प्रबंधन किया : केजरीवाल ने कहा कि कोरोना के वक्त केंद्र सरकार ने हमें बहुत बार उकसाया, लेकिन उसके बावजूद हमने केंद्र सरकार के साथ मिलकर काम किया और हमने दिल्ली के अंदर कोरोना का अच्छे से प्रबंधन किया। मैं पंजाब के हिन्दुओं, सिखों, क्रिश्चियन और मुस्लिम समाज समेत सभी लोगों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि राष्ट्रीय सुरक्षा और आंतरिक सुरक्षा के उपर हम कभी भी किसी भी किस्म की राजनीति नहीं होने देंगे। कोई राजनीति नहीं होगी। केंद्र सरकार के साथ मिलकर पंजाब सरकार काम करेगी। पंजाब एक बॉर्डर स्टेट है। इसलिए बहुत ही संवेदनशील राज्य है। पंजाब के लोगों की सुरक्षा और देश की सुरक्षा को सुनिश्चित करेंगे।
बेअदबी करने वालों को सख्त सजा : केजरीवाल ने आगे कहा कि बॉर्डर पार से नशा आता है। आज पंजाब में जो इतना नशा है। यह कहां से आता है? यह कोई राजस्थान, गुजरात, हरियाणा या दिल्ली से नहीं आ रहा है। यह सारा नशा बॉर्डर पार से आ रहा है। सारे ड्रोन बॉर्डर पार से आ रहे हैं। टिफिन बम भी सारे उधर से आते हैं। हम लोग जानते हैं कि कैसे जब बॉम्बे में बम ब्लास्ट हुआ था, तो पता चला कि बॉम्बे के अंदर जो आरडीएक्स आया था, उसमें कुछ कस्टम के अधिकारियों का भ्रष्टाचार था जिसकी वजह से उन्होंने उसे आने की अनुमति दी थी। घटनाएं तब घटती हैं, जब उधर के लोग अपने नापाक इरादों के लिए इधर के कुछ लोगों को खरीदने में सफल हो जाते हैं। इसीलिए जरूरी है कि बॉर्डर स्टेट में एक ईमानदार सरकार होनी चाहिए।
शिक्षकों ने दिल्ली में क्रांति करके दिखा दिया : केजरीवाल ने कहा कि जब हमने दिल्ली में सरकार बनाई, तो कहा जाता था कि सरकारी शिक्षक तो काम नहीं करते हैं, वो कामचोर होते हैं। वो पेड़ के नीचे बैठकर स्वेटर बुनती रहती हैं। आज उन्हीं 60 हजार शिक्षकों ने दिल्ली के अंदर क्रांति करके दिखा दिया। इसी पंजाब पुलिस को जब ठीक सिग्नल मिलेगा और अच्छे लोगों को ठीक पोस्टिंग मिलेगी तो यही पंजाब पुलिस आपको सुरक्षा देकर दिखाएगी।



और भी पढ़ें :