दुर्गा अष्टमी 2022 : नवरात्रि का 8वां दिन होता है सबसे शुभ, इन 8 उपायों से करें देवी की उपासना

Mahagauri
पुनः संशोधित सोमवार, 4 अप्रैल 2022 (18:34 IST)
हमें फॉलो करें
Maha Ashtami 2022 Date : चैत्र नवरात्रि के दौरान 9 अप्रैल 2022 शनिवार के दिन महाअष्टमी यानी दुर्गा अष्टमी मनाई जाएगी। इस दिन दुर्गा माता के आठवें स्वरूप मां महागौरी की पूजा की जाती है। यह बहुत ही शुभ दिन होता है जिसे अधिकतर घरों में मनाया जाता है। अधिकतर घरों में इसी दिन व्रत का पारण कर लिया।


नवरात्रि में अष्‍टमी के 8 शुभ उपाय (Ashtami ke 8 shubh upay):

1. हवन : कई लोगों के यहां सप्तमी, अष्टमी या नवमी के दिन व्रत का समापन होता है तब अंतिम दिन हवन किया जाता है। अष्‍टमी के दिन हवन करना शुभ होता है।

2. कन्या भोज : जब व्रत के समापन पर उद्यापन किया जाता है तब कन्या भोज कराया जाता है। अष्‍टमी पर 9 कन्याओं को भोजन कराने के बाद छोटी कन्याओं को छोटे-छोटे पर्स में दक्षिणा रखकर लाल रंग के किसी भी गिफ्ट के साथ भेंट करें।
3. संधि पूजा : इस दिन माता रानी की प्रात: आरती, दोपहर आरती, संध्या आरती और संधि आरती करते हैं।


4. लाल चुनरी : माता को इस दिन लाल चुनवरी अर्पित करना चाहिये। आप चाहे तो आरती और पूजा के दौरान इस दिन पांच प्रकार के सूखे मेवे लाल चुनरी में रखकर माता रानी को अर्पित करें।

5. लाल ध्वज : देवी मंदिर में लाल रंग की ध्वजा (पताका, परचम, झंडा) किसी भी दिन जाकर चढ़ाएं।
6. देव को लभाएं भोग : अष्टमी के दिन माता के मंदिर में जाकर लाल चुनरी में मखाने, बताशे के साथ सिक्के मिलाकर देवी को अर्पित करें। इसके साथ ही देवी को मालपुए और खीर का भोग लगाएं।

7. शनि मुक्ति के लिए करें पूजा : अष्टमी और नवमी तिथि पर शनि का भी प्रभाव रहता है। इस दिन माता की अच्छे से आराधना करने से शनि के प्रभाव से माता रक्षा करती है।

8. सुहागिनों के दें श्रृंगार का सामान : किसी सुहागिन स्त्री को चांदी की बिछिया, कुमकुम से भरी चांदी की डिबिया, पायल, अंबे माता का चांदी का सिक्का और अन्य श्रृंगार की सामग्री भेंट करें।



और भी पढ़ें :