वेंकैया नायडू : छात्र नेता से उपराष्ट्रपति तक का सफर

नई दिल्ली|
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। देश के नए उपराष्ट्रपति चुने गए एम. वेंकैया नायडू की राजनीतिक यात्रा छात्र जीवन से ही शुरू हो गई थी और वह सियासत के कई सोपान तय करते हुए आज इस मुकाम तक पहुंचे हैं।

एक जुलाई 1949 को आंध्रप्रदेश के नेल्लोर जिले के छवतपलम में जन्मे नायडू की पहचान हमेशा एक 'आंदोलनकारी' के रूप में रही है। वे 1972 में 'जय आंध्र आंदोलन' के दौरान पहली बार सुर्खियों में आए। 1974 में आंध्रप्रदेश में जयप्रकाश नारायण छात्र संघर्ष समिति की भ्रष्टाचार निरोधक इकाई के संयोजक रहे। उन्होंने लोकनायक जयप्रकाश नारायण की विचारधारा से प्रभावित होकर आपातकाल के विरुद्ध संघर्ष में हिस्सा लिया और उन्हें जेल भी जाना पड़ा। आपातकाल के बाद वे 1977 से 1980 तक जनता पार्टी की युवा शाखा के अध्यक्ष रहे।

नायडू भाजपा के अध्यक्ष रहने के अलावा अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार में ग्रामीण विकास मंत्री रहे। उन्होंने मोदी सरकार में शहरी विकास मंत्रालय के अलावा संसदीय कार्य मंत्री और सूचना प्रसारण मंत्रालय का भी कामकाज संभाला।

राजनीतिक सक्रियता और कुशल वक्तृत्व कला की बदौलत नायडू 1978 और 1983 में नेल्लोर जिले के उदयगिरि विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गए और कुछ ही समय में आंध्रप्रदेश में भाजपा का चेहरा बन गए। वह 1996 से 2000 तक भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता रहे । जना कृष्णमूर्ति के बाद वे 2002 में भाजपा के अध्यक्ष बने। 28 जनवरी 2004 को वे फिर इस पद के लिए निर्विरोध चुने गए, लेकिन उसी वर्ष लोकसभा चुनाव में भाजपा नीत राजग की हार के बाद उन्होंने 18 अक्टूबर 2004 को इस पद से इस्तीफा दे दिया था।











नायडू कर्नाटक से 1998 में राज्यसभा के सदस्य रहने के बाद 2004 और 2009 वह फिर संसद के उच्च सदन के लिए चुने गए। वह 29 मई 2016 को राजस्थान से राज्यसभा के लिए चुने गए। ग्रामीण विकास मंत्री के रूप में उन्होंने ग्रामीण क्षेत्र के विकास में सुधारों को तेजी से लागू किया तथा प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना समेत कई अन्य योजनाएं भी शुरू कीं।










नायडू का संबंध हालांकि दक्षिण भारत से है, लेकिन वह हिन्दी में भी धाराप्रवाह भाषण देने की क्षमता रखते हैं। उन्हें 17 जुलाई को राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन का उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित किया गया था। (वार्ता)



और भी पढ़ें :