दिल्ली के कई होटलों में बिक रहा है गोमांस : विहिप

नई दिल्ली| Last Updated: मंगलवार, 3 नवंबर 2015 (16:15 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। विश्व हिन्दू परिषद ने प्रतिबंध के बावजूद दिल्ली के कई होटलों और रेस्त्रां में गोमांस परोसे जाने की शिकायत करते हुए इसे रोकने के लिए उप राज्यपाल नजीब जंग को पत्र लिखा है।
 
की दिल्ली इकाई के सयुंक्त सचिव राम पाल सिंह यादव की ओर से उपराज्य पाल को भेजे गए इस पत्र की प्रति यहां मीडिया के लिए जारी की है।> > विहिप के प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा कि केरल भवन की घटना के बाद से दिल्ली के कई होटलों में गोमांस परोसे जाने की खबरें लगातार आ रही हैं। केरल भवन की घटना पर जिस तरह की प्रतिक्रिया आई है वह देश के कानून और नियमों का खुला उल्लंघन होने के साथ ही हिन्दुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाने की कार्रवाई है। ऐसे में सरकार को इस पर संज्ञान लेते हुए तुरंत कदम उठाना चाहिए।
       
श्री बसंल ने दिल्ली में कृषि क्षेत्र में प्रयोग में लाए जाने वाले पशुओं के संरक्षण के लिए बनाए गए कानून 1994 का हवाला देते हुए कहा कि इसके तहत दिल्ली में गोवध, गोमांस की बिक्री, खरीद, निर्यात, भंडारण और उपभोग पर पूर्ण पाबंदी है। इसके बावजूद शहर के कई होटलों में इसे अभी भी खुलेआम बेचा जा रहा है, जिससे इस कानून को लागू कराने की जिम्मेदारी जिन्हें दी गई है, उन पर सवाल उठना लाजमी है।
      
विहिप का कहना है किसी भी डिक्शनरी में का अर्थ भैंस का मांस नहीं लिखा हुआ है। यह लोगों को भ्रमित करने की एक सोची समझी शरारत है, ताकि इसकी आड़ में गोमांस भी बेचा जा सके।
      
विहिप ने उप राज्यपाल को लिखे पत्र में साफ कहा है कि वह गोमांस की बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने के लिए आवश्यक और सख्त निर्देश जारी करें, ताकि देश के कानून और नियमों का अनुपालन होने के साथ ही हिन्दुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाली कार्रवाई पर रोक लग सके।
      
पत्र की प्रति केन्द्रीय गृह मंत्रालय, पुलिस आयुक्त, दिल्ली नगर निगम के आयुक्त और मेयर तथा दिल्ली होटल और रेस्त्रां संघ को भी भेजी गई है। विहिप ने चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि गोंमांस की बिक्री पर तत्काल रोक नहीं लगाया गई तो वह इसके विरोध में आंदोलन शुरू करेगी। (वार्ता)



और भी पढ़ें :