Char Dham Yatra Update: बर्फबारी और बारिश के चलते फिर रोकी गई केदारनाथ यात्रा, हेली सेवाएं भी निलंबित

एन. पांडेय| पुनः संशोधित मंगलवार, 24 मई 2022 (19:09 IST)
हमें फॉलो करें
देहरादून। उत्तराखंड में चल रही केदारनाथ यात्रा (चारधाम यात्रा) पर खराब का असर देखने को मिल रहा है। केदारनाथ और यमुनोत्री में भारी बारिश और बर्फबारी के बीच यात्रा को रोक दिया गया है ।

केदार यात्रा को सोनप्रयाग में ही यात्रा को रोक दिया गया है।
इसके साथ ही फाटा से गौरीकुंड तक चलने वाली हेलीकॉप्टर सेवा को भी अस्थायी रूप से रोक दिया गया है। रुद्रप्रयाग में पुलिस के क्षेत्राधिकारी प्रमोद कुमार घिल्डियाल के मुताबिक खराब मौसम को देखते हुए श्रद्धालुओं को सुरक्षित स्थानों पर ही रुकने की अपील की गई है।

मौसम विभाग की तरफ से केदारनाथ में बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया था। इसके बाद ही प्रशासन ने सतर्कता बरतते हुए एहतियातन श्रद्धालुओं को जहां है वहीं पर रुकने की सलाह दी है। सर्किल ऑफिसर प्रमोद कुमार घिल्डियाल ने बताया कि खराब मौसम को देखते हुए केदारनाथ यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं को सोनप्रयाग में रोका गया है।

इसके साथ ही हेलीकॉप्टर सेवा भी अस्थायी तौर पर बंद कर दी गई है। उत्तरकाशी में सुबह से लगातार हो रही बरिश के चलते यमुनोत्री पैदल मार्ग जगह-जगह जोखिम भरा बनने से यमुनोत्री यात्रा को भी रोक दिया गया है। बड़कोटकी एसडीएम शालिनी नेगी ने बताया कि बारिश के चलते यमुनोत्री पैदल यात्रा पर जा रहे तीर्थयात्रियों को जानकी चट्टी में रोका गया है।
केदार यात्रा रुकने की वजह से करीब 10 हजार श्रद्धालु अलग-अलग जगहों पर फंसे हुए हैं। इनमें रुद्रप्रयाग से गुप्तकाशी तक जगह-जगह पांच हजार यात्री फंसे है। सोनप्रयाग में 2000 और गौरीकुंड में 3200 यात्रियों को रोका गया है। प्रशासन ने लोगों से अपील की है कि सभी श्रद्धालु फिलहाल अपने-अपने होटल में वापस चले जाएं। खराब मौसम में यात्रा के लिए आगे बढ़ना खतरनाक हो सकता है।

भारी बारिश और बर्फबारी की वजह से भूस्खलन का खतरा भी बढ़ जाता है। केदारनाथ में रविवार से ही रुक-रुककर बारिश हो रही है। मौसम विभाग के मुताबिक अभी अगले कुछ दिन और मौसम बिगड़ सकता है। ऐसे में सुरक्षा कारणों की वजह से यात्रा को रोका गया है।

केदारनाथ में मौसम का मिजाज लगातार बदल रहा है। बदलता मौसम बाबा केदार के भक्तों पर भारी पड़ रहा है। 6 मई से शुरू हुई यात्रा के बाद से आए दिन मौसम खराब हो रहा है। धाम में सुबह से दोपहर तक तापमान 20 से 24 डिग्री तक रहता है, लेकिन दोपहर बाद अचानक मौसम में बदलाव से पारा गिरकर 2 से 3 डिग्री तक पहुंच जाता है। केदारनाथ में पल-पल बदल रहा मौसम यात्रियों लिए मुसीबत बन रहा है।

बारिश, ओलावृष्टि और ऊपरी पहाड़ियों पर हो रहे हिमपात से केदारपुरी में ठंड बढ़ रही है, जिससे हाइपोथर्मिया के मामलों में बढ़ोतरी हो रही है। दिन और शाम के तापमान में यहां 18 से 21 डिग्री तक का अंतर है। पैदल मार्ग पर रामबाड़ा से रुद्रा प्वाइंट तक चार किलोमीटर की चढ़ाई भी यात्रियों पर भारी पड़ रही है। कपाट खुलने के बाद अभी तक 30 यात्रियों की मौत हो चुकी है। इनमें से अधिकांश यात्रियों को दिल का दौरा पड़ा था।



और भी पढ़ें :