Amit Shah Birthday: सियासत के ‘चाणक्य’ से सशक्त गृहमंत्री बनने का सफर तय करते अमित शाह

गृहमंत्री अमित शाह का 58वां जन्मदिन आज

Author विकास सिंह| पुनः संशोधित शुक्रवार, 22 अक्टूबर 2021 (11:25 IST)
देश के गृहमंत्री और भारतीय राजनीति में ‘चाणक्य’ के नाम से पहचाने जाने वाले आज अपना 58वां जन्मदिन मना रहे है। भाजपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष रहते हुए पार्टी को सफलता के नए शिखर पर पहुंचाने वाले अमित शाह की पहचान एक अद्वितीय संगठनकर्ता और असंभव को संभव बना देने वाले कुशल राजनीतिज्ञ के तौर पर देश की सियासत में की जाती है। अमित शाह की ही संगठन कुशलता का परिणाम है कि आज भाजपा दुनिया के सबसे बड़ी कार्यकर्ताओं वाली राजनीतिक पार्टी है।

बतौर राष्ट्रीय अध्यक्ष भाजपा को दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी बनाने वाले अमित शाह मोदी 2.0 सरकार में देश के गृहमंत्री की कमान संभाले हुए है। मोदी 2.0 सरकार के ऐतिहासिक फैसलों में अमित शाह की
अहम भूमिका रही है।
जम्मू कश्मीर में हटाकर देश में एक विधान, एक निशान और एक संविधान का जनसंघ के समय से देखे गए भाजपा के सपने सच करने में अमित शाह की महत्ती भूमिका रही। इसके साथ ट्रिपल तलाक पर कानून बनाना और देश में नागरिकता से जुड़े कानून को भी अमलीजामा पहनाने में अमित शाह का भी बड़ा रोल रहा। बतौर गृहमंत्री अमित शाह ने अपने फैसलों और दृढइच्छाशक्ति से अपने विरोधियों को भी माकूल जवाब दिया है।
पंचायत से लेकर संसद तक भाजपा का एकछत्र राज कराने वाले अमित शाह अब मोदी सरकार में नंबर-2 की हैसियत से गृहमंत्रालय की कमान संभाले हुए है। जिसे प्रधानमंत्री के बाद दूसरा सबसे पॉवरफुल व्यक्ति माना जाता है। अमित शाह, जिनके नेतृत्व में भाजपा ने देश के अधिकांश प्रदेशों में भगवा का झंडा लहराने के बाद 2019 के लोकसभा चुनाव में पहली बार संसद में 300 का आंकड़ा पार कर लिया वह अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद प्रधानमंत्री पद के दावेदार के तौर पर भी देखे जा रहे है।

राजनीतिक विश्लेषक कहते हैं कि मोदी 2.0 सरकार में गृहमंत्री बनने के बाद ही यह साफ हो गया है कि अमित शाह की नरेंद्र मोदी के बाद भाजपा की ओर से प्रधानमंत्री पद के सबसे प्रबल दावेदार है।


हलांकि पिछले दिनों खुद अमित शाह ने साफ कर दिया है कि भाजपा 2024 में चुनाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चेहरे पर लड़ेगी और वहीं देश के प्रधानमंत्री बनेंगे। गुजरात में एक कार्यक्रम में पहुंचे अमित शाह ने कहा ‘लोकतांत्रिक देशों में, जहां लोग अपने निर्वाचित प्रतिनिधियों को बदल देते हैं, आपने ऐसा कोई नेता नहीं देखा होगा जिसने इतने लंबे समय तक सेवा की। नरेंद्र मोदी ने 7 अक्टूबर, 2001 को (गुजरात के मुख्यमंत्री का) पदभार संभाला था और कल 7 अक्टूबर, 2021 था। वह आज प्रधानमंत्री हैं और 2024 में फिर चुने जाएंगे।’



और भी पढ़ें :