स्मृति ईरानी को अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय का प्रभार, ज्योतिरादित्य सिंधिया को इस्पात मंत्रालय, राष्ट्रपति ने स्वीकार किया अब्बास नकवी का इस्तीफा

पुनः संशोधित बुधवार, 6 जुलाई 2022 (22:28 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी और रामचंद्र प्रसाद सिंह के इस्तीफे तत्काल प्रभाव से स्वीकार कर लिए हैं। की ओर से जारी बयान के मुताबिक प्रधानमंत्री की सलाह पर राष्ट्रपति ने निर्देश दिया है कि केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी को अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय का भी प्रभार सौंपा जाए। कैबिनेट मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को उनके मौजूदा नागरिक उड्डयन मंत्रालय के अलावा का प्रभार भी सौंपा गया है।
राष्ट्रपति भवन की ओर से बुधवार को एक बयान जारी कर यह जानकारी दी गई। इससे पहले, केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी और रामचंद्र प्रसाद सिंह ने राज्यसभा का कार्यकाल समाप्त होने के एक दिन पहले बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया।

प्रधानमंत्री मोदी ने इससे पहले केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक के दौरान देश व लोगों की सेवा के लिए दोनों नेताओं की सराहना की थी। प्रधानमंत्री की सराहना को इस संकेत के रूप में देखा गया कि आज हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक दोनों नेताओं के लिए आखिरी थी। दोनों नेताओं का राज्यसभा सदस्य के रूप में कार्यकाल सात जुलाई यानी गुरुवार को समाप्त हो रहा है।

नकवी को भाजपा ने पिछले दिनों हुए राज्यसभा के द्विवार्षिक चुनाव में कहीं से उम्मीदवार नहीं बनाया था। आरसीपी सिंह जनता दल यूनाईटेड के कोटे से केंद्र सरकार में मंत्री थे। उन्हें भी जदयू ने अगला कार्यकाल नहीं दिया है। सिंह के पास इस्पात मंत्रालय का प्रभार था।(भाषा)



और भी पढ़ें :