राजस्थान में भीषण गर्मी का प्रकोप, धौलपुर में पारा 47.8 डिग्री के पार, दिल्ली में 7 दिन तक नहीं चलेगी लू

Last Updated: शनिवार, 21 मई 2022 (11:30 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। आंतरिक तमिलनाडु और इससे सटे कर्नाटक पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। मार्ताबन की खाड़ी और उससे सटे म्यांमार के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। अब उसी क्षेत्र पर एक गहरा निम्न दबाव का क्षेत्र बन सकता है। संबद्ध चक्रवाती परिसंचरण मध्य क्षोभमंडल स्तर तक फैला हुआ है। अगले 24 घंटों के दौरान इसके उत्तर-पूर्व की ओर म्यांमार की ओर बढ़ने की संभावना नहीं है। एक उत्तर-दक्षिण ट्रफ मध्यप्रदेश के मध्य भागों से मराठवाड़ा और आंतरिक कर्नाटक होते हुए आंतरिक तमिलनाडु तक फैली हुई है। के धौलपुर में पारा 47.8 डिग्री के पार हो गया है। दिल्ली में 1 हफ्ते तक लू चलने की कोई संभावाना नहीं है।
धौलपुर में पारा 47.8 डिग्री के पार :

राजस्थान के अधिकतर हिस्सों में शुक्रवार को भी भीषण गर्मी का प्रकोप जारी रहा और धौलपुर में अधिकतम तापमान 47.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। करौली में अधिकतम तापमान 47.1 डिग्री सेल्सियस, पिलानी-अंता में 46.7-46.7 डिग्री, चुरू-बीकानेर-अलवर में 46.4-46.4 डिग्री, वनस्थली-हनुमानगढ़ में 46.2-46.2 डिग्री, चित्तौडगढ़ में 46 डिग्री, कोटा में 46.9 डिग्री, नागौर में 45.8 डिग्री, श्रीगंगानगर में 45.6 डिग्री, फलौदी में 45.4 डिग्री, जैसलमेर में 45.6 डिग्री, बाड़मेर में 44.7 डिग्री, जयपुर में 44.6 डिग्री, सीकर में 44 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
विभाग ने आगामी 2 दिन दिनों में अलवर, भरतपुर, धौलपुर, करौली, सवाई माधोपुर में मेघगर्जन के साथ धूलभरी आंधी और तेज हवाओं के चलने की संभावना जताई है।

दिल्ली में एक हफ्ते तक नहीं चलेगी लू :
दिल्ली में शुक्रवार को तेज हवाओं के साथ गरज के साथ बौछारें पड़ने से शाम को लोगों को भीषण गर्मी से कुछ राहत मिली। दिल्ली के प्राथमिक मौसम केंद्र सफदरजंग वेधशाला में अधिकतम तापमान सामान्य से 5 डिग्री अधिक 44.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दिल्ली के कुछ हिस्सों में शाम को आंशिक रूप से बादल छाए रहने, बूंदाबांदी और ओलावृष्टि होने से कुछ देर के लिए लोगों को राहत मिली। ताजा विक्षोभ के कारण दिल्ली में 1 हफ्ते लू नहीं चलेगी।
यहां हुई बारिश : पिछले 24 घंटों के दौरान अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में मध्यम से भारी बारिश हुई। तटीय और उत्तरी आंतरिक कर्नाटक और दक्षिण मध्य महाराष्ट्र और दक्षिण छत्तीसगढ़ में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई।

स्काईमेट के अनुसार असम, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, मराठवाड़ा, दक्षिण कोंकण और गोवा, केरल, लक्षद्वीप और जम्मू-कश्मीर में हल्की से मध्यम बारिश हुई। मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, नगालैंड, तटीय ओडिशा, झारखंड के कुछ हिस्सों, आंतरिक तमिलनाडु, तेलंगाना के कुछ हिस्सों, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और हिमाचल प्रदेश के एक या दो हिस्सों में हल्की बारिश हुई। पश्चिमी राजस्थान के कई हिस्सों और पूर्वी राजस्थान, उत्तरी मध्यप्रदेश, दक्षिण पंजाब, दक्षिण हरियाणा, दक्षिण उत्तरप्रदेश और दिल्ली के कुछ हिस्सों में लू चल रही है।
अगले 24 घंटों के दौरान अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, के कुछ हिस्सों, मेघालय, उपहिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, तटीय कर्नाटक और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश संभव है। जम्मू-कश्मीर, गिलगित बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड के कुछ हिस्सों, तमिलनाडु के केरल भागों, बिहार पूर्वी झारखंड और रायलसीमा में हल्की से मध्यम बारिश संभव है। पूर्वी उत्तरप्रदेश, उत्तरी छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों, आंतरिक ओडिशा, कोंकण और गोवा और तटीय आंध्रप्रदेश में हल्की बारिश संभव है।
हरियाणा, पश्चिमी उत्तरप्रदेश, उत्तरी राजस्थान और दिल्ली के कुछ हिस्सों में गरज के साथ छींटें पड़ सकते हैं या धूलभरी हवाएं और हल्की आंधी चल सकती है। पश्चिम राजस्थान के अलग-अलग हिस्सों में भीषण लू के साथ कई स्थानों पर लू की स्थिति संभव है। पूर्वी राजस्थान, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश, दक्षिण पंजाब, दक्षिण हरियाणा और दिल्ली एनसीआर के एक या दो हिस्सों में कुछ स्थानों पर लू चलने की आशंका है।



और भी पढ़ें :