रणदीप सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री से की मांग, अयोध्या में जमीन लूट की जांच कराएं...

पुनः संशोधित बुधवार, 22 दिसंबर 2021 (17:19 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। ने बुधवार को आरोप लगाया कि भाजपा के कई नेताओं तथा उत्तरप्रदेश शासन के कुछ अधिकारियों ने अयोध्या में निर्माणाधीन राम मंदिर के आसपास की जमीनों को औने-पौने दाम पर खरीदा है तथा जमीन की यह लूट साल 2019 में उच्चतम न्यायालय का फैसला आने के बाद की गई है।
पार्टी महासचिव और मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को चंदे की लूट और जमीन की लूट पर जवाब देना चाहिए तथा पूरे प्रकरण की जांच करानी चाहिए। उन्होंने यहां बातचीत में उत्तरप्रदेश में भाजपा के कुछ विधायकों और स्थानीय प्रशासन के कुछ वरिष्ठ अधिकारियों के नाम का उल्लेख किया और दावा किया कि भाजपा के लोगों ने रामद्रोह किया है जिसके लिए वे पाप और शाप के भागी हैं। कांग्रेस के इस दावे पर फिलहाल भाजपा या की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

सुरजेवाला ने कहा कि पहले मंदिर के नाम पर चंदे की लूट की गई और अब संपत्ति बनाने की लूट हो रही है। साफ है कि भाजपाई अब रामद्रोह कर रहे हैं। जमीन की सीधे लूट मची हुई है। एक तरफ आस्था का दीया जलाया गया और दूसरी तरफ भाजपा के लोगों द्वारा जमीन की लूट मचाई गई है।

उन्होंने दावा किया कि अब नया खुलासा हुआ है कि निर्माणाधीन राम मंदिर के निकट की जमीनें भाजपा के विधायकों, महापौर, ओबीसी आयोग के सदस्य और प्रशासन के आला अधिकारियों द्वारा औने-पौने दामों पर खरीद ली गई हैं। यहां तक कि दलितों की जमीनों को भी हड़प लिया गया है। राम मंदिर मामले को लेकर न्यायालय का फैसला आने के बाद यह सब किया गया।

कांग्रेस नेता ने कहा कि भगवान श्रीराम आस्था, विश्वास, मर्यादा और सनातन के प्रतीक हैं। लेकिन भाजपा के लोग उनके नाम पर भी लूट का धंधा चला रहे हैं। प्रधानमंत्रीजी बताएं कि आप अपना मुंह कब खोलेंगे? प्रधानमंत्री को यह भी बताना चाहिए कि (वे) चंदे की लूट और जमीन की लूट की जांच कब कराएंगे?



और भी पढ़ें :