Omicron का डर, भारत ने दक्षिण अफ्रीका को मदद की पेशकश की

भारत सरकार ने मलावी, इथियोपिया, जाम्बिया, मोजाम्बिक, गिनी और लेसोथो जैसे अफ्रीकी देशों सहित कोविशील्ड टीकों की आपूर्ति के लिए कोवैक्स द्वारा अब तक दिए गए सभी आदेशों को मंजूरी दे दी है।

पुनः संशोधित मंगलवार, 30 नवंबर 2021 (00:18 IST)
नई दिल्ली। अफ्रीका में कोरोनावायरस (Coronavirus) के नए स्वरूप ‘ओमीक्रोन’ (Omicron) के सामने आने के मद्देनजर ने सोमवार को कहा कि वह टीके, जीवन रक्षक दवाओं और परीक्षण किट की आपूर्ति सहित महाद्वीप में प्रभावित देशों की मदद करने के लिए तैयार है।

विदेश मंत्रालय (एमईए) ने कहा कि टीकों की आपूर्ति कोवैक्स के माध्यम से या द्विपक्षीय रूप से की जा सकती है। मंत्रालय ने कहा कि सरकार ने मलावी, इथियोपिया, जाम्बिया, मोजाम्बिक, गिनी और लेसोथो जैसे अफ्रीकी देशों सहित कोविशील्ड टीकों की आपूर्ति के लिए कोवैक्स द्वारा अब तक दिए गए सभी आदेशों को मंजूरी दे दी है।

मंत्रालय ने कहा कि किसी भी नई आवश्यकता को या तो द्विपक्षीय रूप से या कोवैक्स के माध्यम से अनुमानित किया जाएगा, इस पर शीघ्र विचार किया जाएगा।
विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि हमने कोविड-19, ओमीक्रोन के एक नए स्वरूप के उद्भव पर ध्यान दिया है। हम उन देशों के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त करते हैं, विशेष रूप से अफ्रीका में, जो अब तक ओमीक्रोन स्वरूप से प्रभावित हुए हैं।

बयान में कहा गया है कि भारत सरकार ओमीक्रोन स्वरूप से निपटने में अफ्रीका में प्रभावित देशों का समर्थन करने के लिए तैयार है, जिसमें मेड-इन-इंडिया टीकों की आपूर्ति भी शामिल है।
इसमें कहा गया है कि हमने बोत्सवाना को कोवैक्सीन की आपूर्ति को भी मंजूरी दे दी है। किसी भी नई आवश्यकता को या तो द्विपक्षीय रूप से या कोवैक्स के माध्यम से पेश किया जाएगा, इस पर तेजी से विचार किया जाएगा।



और भी पढ़ें :