ज्ञानवापी मुद्दे पर आपत्तिजनक पोस्ट, कहीं बताया लीची में शिवलिंग तो कहीं बोतल में, एक गिरफ्तार, दूसरे की तलाश जारी

हिमा अग्रवाल| Last Updated: गुरुवार, 19 मई 2022 (14:46 IST)
हमें फॉलो करें
ज्ञानवापी को मुद्दा बनाकर सोशल मीडिया पर माहौल खराब करने की लगातार मेरठ में साजिश की जा रही है। ज्ञानवापी मस्जिद के वजूखाने में मिलने के बाद से सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। कोई लीची में शिवलिंग ढूंढ रहा है तो कोई पानी की बोतल में जमी बर्फ में शिवलिंग बता रहा है। ऐसे तमाम पोस्ट हिन्दू समुदाय की भावनाओं को आहत कर रही है।
मेरठ की मवाना तहसील से शिवलिंग को लेकर आपत्तिजनक पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल होने से हिन्दू संगठनों में रोष व्याप्त है। सोशल मीडिया की पोस्ट को आधार बनाते हुए बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने आपत्ति पुलिस में दर्ज कराई। पोस्ट को देखकर पुलिस भी अलर्ट मोड पर आ गई और आनन-फानन में मुकदमा दर्ज कर लीची के बीज को शिवलिंग बताने वाले विशेष समुदाय के नकसाब हैदर को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया।

इसी बीच सोशल मीडिया पर दूसरी पोस्ट वायरल होने लगी, एक बोतल के अंदर जमी बर्फ को शिवलिंग बताते हुए नौशाद नाम के शख्स ने अभद्र टिप्पणी कर दी, यह पोस्ट तेजी के साथ सोशल मीडिया पर ट्रेंड करने लगी। पुलिस ने की शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर लिया है।

मेरठ के थाना मवाना क्षेत्र से ही ये दोनों पोस्ट पर शिकायत दर्ज हुई है, इसमें नकसाब जेल चला गया है, जबकि बर्फ को शिवलिंग बताने वाले नौशाद की पुलिस तलाश कर रही है। सोशल मीडिया पर वायरल आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने थाने पर जमा होकर रोष भी प्रकट किया है।

इनका कहना है कि कुछ व्यक्ति विशेष लोगों का ग्रुप है जो इस तरह की पोस्ट वायरल करके माहौल बिगाड़ने की साजिश रच रहा है। वायरल पोस्ट को देखकर समझ में आ रहा है कि कुछ लोग अमन के दुश्मन बन गए हैं। इस मामले को लेकर बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने अपनी कमर कस ली है, वहीं भी किसी तरह की ढिलाई न बरतते हुए मुकदमा दर्ज कर आरोपियों तक पहुंचने में जुटी हुई है।
पुलिस की साइबर टीम भी सोशल मीडिया पर ऐसे आपत्तिजनक वायरल पोस्ट को खंगालने में जुटी हुई है। फिलहाल अब तक मेरठ के थाना मवाना क्षेत्र से जुड़े 2 मामले सामने आए हैं। इसमें से एक मामले में नकसाब हैदर को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है, जबकि नौशाद की तलाश जारी है।

फिलहाल मेरठ बारूद के ढेर पर बैठा हुआ दिखाई दे रहा है, अमन के दुश्मन प्रहार कर रहे हैं, पुलिस-प्रशासन की सावधानी यदि कमजोर होती है तो दुश्मन उसका फायदा उठा जाएगा।



और भी पढ़ें :