देश में पहली बार पुरुष से ज्यादा महिलाएं, नेशनल फैमिली एंड हेल्थ सर्वे की रिपोर्ट की बड़ी बातें

Last Updated: गुरुवार, 25 नवंबर 2021 (15:11 IST)
नई दिल्ली। देश में की मुकाबले महिला आबादी में बढ़ोतरी हुई है। नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे की रिपोर्ट के मुताबिक भारत की आबादी में पहली बार प्रति 1,000 पुरुषों पर महिलाओं की संख्या 1020 हो गई है। नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. विनोद कुमार पॉल और केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने बुधवार को 2019-21 के नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे (NFHS-5) फैक्टशीट जारी की। इससे पूर्व NFHS-4 में प्रति 1000 पुरुषों की आबादी में महिलाओं की संख्या 991 थी।

गांवों में हुआ सुधार : एनएफएचएस-5 के आंकड़ों में यह बात भी सामने आई है कि सेक्स रेशो सुधार शहरों के मुकाबले गांवों में अधिक बेहतर देखने को मिला। गांवो में हर 1,000 पुरुषों पर 1,037 महिलाएं हैं और शहरों में 985 महिलाएं हैं। देश के 23 राज्य ऐसे हैं, जहां पर 1,000 पुरुषों पर महिलाओं की आबादी 1,000 से अधिक देखने को मिली है। यूपी में प्रति 1,000 पुरुषों पर 1017, बिहार में 1090, दिल्ली में 913 है। मध्यप्रदेश में 970 और राजस्थान में यह संख्या 1,009 दर्ज की गई है।
पहले चरण में शामिल हुए 22 राज्य : सर्वे के पहले चरण में शामिल 22 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के संबंध में एनएफएचएस-5 के निष्कर्ष दिसंबर 2020 में जारी किए गए थे। दूसरे चरण में जिन राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों का सर्वेक्षण किया गया, वे हैं- अरुणाचल प्रदेश, चंडीगढ़, छत्तीसगढ़, हरियाणा, झारखंड, मध्यप्रदेश, दिल्ली, ओडिशा, पुडुचेरी, पंजाब, राजस्थान, तमिलनाडु, उत्तरप्रदेश और उत्तराखंड।

NFHS-5 सर्वे कार्य देश के 707 जिलों (मार्च 2017 तक) के लगभग 6.1 लाख नमूना परिवारों में किया गया है। इसमें जिला स्तर तक अलग-अलग अनुमान प्रदान करने के लिए 7,24,115 महिलाओं और 1,01,839 पुरुषों को शामिल किया गया।



और भी पढ़ें :