बड़े घमंड में थे PM मोदी, सिर्फ 5 मिनट की मुलाकात में ही हो गया झगड़ा, किसान आंदोलन को लेकर सत्यपाल मलिक का खुलासा (वीडियो)

Last Updated: सोमवार, 3 जनवरी 2022 (15:56 IST)
हमें फॉलो करें
के गवर्नर ने केंद्र की मोदी सरकार पर लगातार हमलावर रहते हैं। मलिक ने बयान दिया है कि जब 'मैं किसानों के मामले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने गया था तो वहां मेरी 5 मिनट में लड़ाई हो गई। प्रधानमंत्री बहुत घमंड में थे।
जब मैंने उन्हें कहा कि 500 लोग मर गए हैं, तो उन्होंने कहा- मेरे लिए मरे हैं? इस पर मैंने कहा कि आपके लिए तो मरे हैं, जो आप राजा बने हुए हो। वहां झगड़ा हो गया।'

सत्यपाल मलिक मेघालय से पहले जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल रह चुके हैं। वे के समय भी केंद्र सरकार पर हमला करते रहे हैं।

गलत फीडबैक दिया गया : हरियाणा के दादरी स्थित स्वामी दयाल धाम में माथा टेकने पहुंचे मलिक ने कहा कि कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन जारी रहने के दौरान वे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मिले थे। मलिक ने यह भी कहा कि जब वे से मिले तो उनका कहना था कि किसान आंदोलन को लेकर प्रधानमंत्री को गलत फीडबैक दिया गया है।
राज्यपाल पद छोड़ने को तैयार : मलिक ने कहा कि किसान आंदोलन अभी खत्म नहीं, बल्कि स्थगित हुआ है। किसानों के साथ कोई नाइंसाफी या अत्याचार हुआ, तो यह दोबारा शुरू हो सकता है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को किसानों को एमएसपी पर कानूनी गारंटी देनी चाहिए। सरकार को ईमानदारी दिखाते हुए किसानों पर दर्ज केस तुरंत वापस लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि किसानों के लिए जरूरत पड़ी, तो वे गवर्नर का पद छोड़ने के लिए तैयार हैं।
कांग्रस ने शेयर किया वीडियो : कांग्रेस ने सत्यपाल मलिक के वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, घमंड...क्रूरता...संवेदनहीनता. भाजपा के राज्यपाल के इस बयान में पीएम मोदी के व्यक्तित्व में शामिल इन्हीं 'गुणों' का बखान है। मगर, ये एक लोकतंत्र के लिए चिंता की बात है।

खडगे ने भी शेयर किया वीडियो : कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने सोमवार को कहा कि ‘क्या मलिक के बयान सच हैं’। खड़गे ने ट्विटर पर मलिक का एक वीडियो क्लिप भी शेयर किया। इसमें वह हरियाणा के चरखी दादरी में एक समारोह को संबोधित कर रहे हैं। वीडियो में मलिक को कहते सुना जा सकता है कि जब वह किसानों के मुद्दे पर प्रधानमंत्री से मिलने गये थे तो वह (मोदी) ‘घमंड में’ थे और पांच मिनट में उनका झगड़ा हो गया।
वीडियो में मलिक यह दावा करते हुए भी सुने जा सकते हैं कि मोदी यह बात स्वीकार करने को तैयार नहीं थे कि पिछले साल केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसान उनकी वजह से मारे गये। मलिक के अनुसार प्रधानमंत्री ने उनसे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिलने को कहा।

राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष खड़गे ने कहा कि मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ऑन रिकॉर्ड यह कहते सुने जा सकते हैं कि किसानों के मुद्दे पर प्रधानमंत्री ‘घमंड में’ थे और गृह मंत्री अमित शाह ने प्रधानमंत्री को ‘पागल’ (मैड) कहा। संवैधानिक पदों पर बैठे लोग एक-दूसरे के लिए इस तरह अवमानना के साथ बोल रहे हैं। खड़गे ने कहा कि ‘नरेंद्र मोदीजी, क्या यह सच है?’’ मलिक को वीडियो में यह भी कहते सुना जा सकता है कि जब वे शाह से मिले तो उन्होंने कहा कि लोगों ने उनकी (मोदी की) अकल खराब कर रखी है।



और भी पढ़ें :