जम्‍मू कश्‍मीर मंत्रिमंडल में सरकार का चेहरा बदलने की कोशिश

जम्मू। कठुआ बलात्कार और हत्याकांड के बाद राज्य की राजनीति में मची उथलपुथल को संभालने की खातिर राज्य सरकार ने जो नया दांव खेला है उसके तहत उसने अपने आठ मंत्रियों को बदल दिया है। उसने राज्य मंत्रिमंडल में चेहरे बदलकर अपना चेहरा बदलने की कोशिश की है जो कहां तक कामयाब हो पाएगी यह तो वक्त ही बता पाएगा।

भाजपा-पीडीपी सरकार में व्यापक फेरबदल के चलते सोमवार को सात नए कैबिनेट व एक राज्यमंत्री को मंत्रिमंडल में शामिल कर लिया गया। जम्मू के कन्वेंशन सेंटर में राज्यपाल एनएन वोहरा ने नए मंत्रियों को शपथ दिलाई। भाजपा ने पांच नए कैबिनेट मंत्री व एक राज्यमंत्री बनाया है तो पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी ने अपने दो नए कैबिनेट मंत्री बनाए हैं। इस बीच, मंत्रिमंडल में फेरबदल पर जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि एक नई टीम आई है। पुरानी टीम ने भी अच्छा काम किया था। नई टीम में युवा और शिक्षित लोग हैं और मुझे उम्मीद है कि वे अच्छा काम करेंगे।

डॉ. निर्मल सिंह की जगह महबूबा मुफ्ती के नेतृत्व वाले मंत्रिमंडल में शामिल किए जा रहे कविन्द्र गुप्ता ने दोपहर बारह बजे सबसे पहले शपथ ली। कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ लेने वाले भाजपा विधायकों में प्रदेश अध्यक्ष व जम्मू पश्चिम के विधायक सत शर्मा, कठुआ के विधायक राजीव जसरोटिया, सांबा के विधायक देवेन्द्र मन्याल शामिल थे। पदोन्नत हुए राज्यमंत्री सुनील शर्मा ने भी कैबिनेट के रूप में शपथ ली तो डोडा के विधायक शक्ति परिहार ने राज्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

वहीं दूसरी ओर पीडीपी की ओर से मोहम्मद अशरफ मीर व मोहम्मद खलील बंड ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली। करीब पंद्रह मिनट तक चले इस शपथ ग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अविनाश राय खन्ना, राष्ट्रीय महासचिव राम माधव, सरकार के कई कैबिनेट मंत्री, विधायक, विधान परिषद के सदस्य मौजूद थे। भाजपा हाईकमान ने तीन साल से अधिक समय तक उपमुख्यमंत्री रहे डॉ. निर्मल सिंह के साथ जिन दो मंत्रियों को बाहर किया है उनमें बाली भगत व प्रिया सेठी शामिल हैं।

वहीं पीडीपी ने अपने ग्रामीण विकास मंत्री हक खान को बदला है। अब मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री समेत पीडीपी के 12 व भाजपा के 9 कैबिनेट मंत्री रह गए हैं। दोनों के दो-दो राज्यमंत्री हैं। उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार, मुख्यमंत्री सोमवार शाम तक कविन्द्र गुप्ता को उपमुख्यमंत्री बनाने के साथ नए मंत्रियों को विभागों का प्रभार देने संबंधी सरकारी आदेश जारी कर देंगी। भाजपा-पीडीपी गठबंधन सरकार के मंत्रिमंडल फेरबदल में भाजपा ने अप्रत्याशित बदलाव करते हुए डॉ. निर्मल सिंह की जगह कविंद्र गुप्ता को उपमुख्यमंत्री बना दिया है।

डॉ. निर्मल सिंह विधानसभा के स्पीकर बनाए गए हैं। डॉ. निर्मल सिंह ने रविवार देर शाम को उपमुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया, जिसे मुख्यमंत्री ने स्वीकार कर लिया है। पीडीपी के एक कैबिनेट मंत्री की सीट डॉ. हसीब द्राबू को वित्तमंत्री के पद से हटाने के बाद से खाली हुई थी, जबकि दूसरी सीट ग्रामीण विकास मंत्री अब्दुल हक खान को हटाकर खाली करने की बात कही जा रही है।

इसी के साथ महबूबा मंत्रिमंडल में भाजपा के 09 कैबिनेट व दो राज्यमंत्री और पीडीपी के 12 कैबिनेट व दो राज्यमंत्री हो जाएंगे। उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार, दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार देर शाम भाजपा के नए मंत्रियों की सूची पर मुहर लगा दी थी।



और भी पढ़ें :