'वज्र' बनकर टूटा नारकोटिक्स विभाग, 14000 बीघे में नष्ट की अफीम की अवैध फसल

Author मुस्तफा हुसैन| पुनः संशोधित मंगलवार, 29 मार्च 2022 (18:12 IST)
हमें फॉलो करें
भारत के नारकोटिक्स आयुक्त के निर्देश पर उत्तर पूर्व भारत में अफीम की अवैध खेती पर एक विशेष कार्रवाई अभियान के तहत केंद्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो (CBN), ग्वालियर और नीमच के अधिकारियों ने विशिष्ट खुफिया जानकारी के आधार पर 3600 हेक्टेयर (14000 बीघा) में अवैध रूप से अफीम की खेती की पहचान की और उसे नष्ट किया गया।

मध्य प्रदेश के नारकोटिक्स उपायुक्त डॉ. संजय कुमार ने बताया कि भारत के नारकोटिक्स आयुक्त राजेश फ़तेह सिंह ढाबरे के निर्देश पर के कुछ क्षेत्रों में अवैध अफीम की खेती होने की सूचना विभाग को मिली। जिस पर फरवरी के महीने में सीबीएन नीमच और सीबीएन ग्वालियर के अधिकारियों की टीमों का गठन किया गया और उन्हें अरुणाचल प्रदेश भेजा गया।
सीबीएन अधिकारियों द्वारा स्थानीय प्रशासन और पुलिस के साथ समन्वय किया और अवैध अफीम उगाने वाले क्षेत्रों की पहचान के लिए सर्वेक्षण कार्य शुरू किया गया।


डॉ. संजय कुमार ने बताया कि इसके बाद विभाग ने 'वज्र शक्ति' ऑपरेशन लांच किया और
पुलिस, सीआरपीएफ और प्रशासन के सुरक्षा कवर के साथ इस अवैध खेती को नष्ट करने का अभियान शुरू किया गया। पूरा ऑपरेशन लगभग तीन सप्ताह तक चला, जिसमे लगभग 3600 हेक्टेयर (14000 बीघा) अफीम की अवैध खेती को नष्ट किया गया।

नारकोटिक्स उपायुक्त डॉ.
कुमार ने बताया कि ऑपरेशन वज्र शक्ति में कई बाधाओं और कठिन इलाकों का सामना करने के बावजूद सीबीएन अधिकारियों ने धैर्य और दृढ़ संकल्प का प्रदर्शन किया और अवैध रूप से खेती की गई अफीम को सफलतापूर्वक नष्ट किया।



और भी पढ़ें :