हर घर तिरंगा अभियान : उत्तराखंड भाजपा अध्यक्ष के बयान पर क्यों मचा बवाल?

पुनः संशोधित शुक्रवार, 12 अगस्त 2022 (11:00 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी देशवासियों से 13 से 15 अगस्त तक हर घर में तिरंगा लहराने की अपील की है। इस बीच ने कहा कि जिसके घर में तिरंगा नहीं लगा होगा, हम उसे विश्वास की नजर से कभी देख नहीं पाएंगे। बयान पर बवाल मच गया। कांग्रेस नेता ने सवाल किया कि किसी की देश भक्ति का पैमाना नापने वाली भाजपा कौन होती है?


उत्तराखंड भाजपा अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने कहा, 'जिसके घर में तिरंगा नहीं लगा होगा, हम उसे विश्वास की नज़र से कभी देख नहीं पाएंगे। मुझे उस घर का फोटो चाहिए, जिस घर में तिरंगा ना लगा हो। समाज देखना चाहता है उस घर, उस परिवार को कि भारत के सम्मान का भाव किस-किस परिवार में नहीं है।

इस पर वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि भाजपा के नए अध्यक्ष बहुत विनम्र व्यक्ति हैं। मगर उनका बयान बहुत दु:ख पहुंचा गया। किसी की देश भक्ति का पैमाना नापने वाली भाजपा कौन होती है? यदि तिरंगा झंडा घर पर फहराना ही राष्ट्रभक्ति कहलाती है तो फिर उनके निकटवर्ती तो कई ऐसे लोग रहे हैं, ऐसे संगठन रहे हैं जिनका हम भी आदर करते हैं, जिन्होंने तिरंगे को नहीं फहराया।

उन्होंने कहा कि भाजपा के 7 साल के राज में 37 करोड़ लोग गरीबी रेखा के नीचे आ गए। कहां से उन लोगों के पास झंडा खरीदने का पैसा आएगा। मापदंड ऐसा न बनाइए, जिसको कूदने में आपके किसी नागरिक को कठिनाई हो! "जय हिंद- जय तिरंगा"

इससे पहले हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने भी कहा था कि कोई भी व्यक्ति किसी को राष्ट्रीय ध्वज खरीदने के लिए मजबूर नहीं कर सकता है। उनकी यह टिप्पणी उन खबरों के बीच आई है कि करनाल के एक राशन डिपो ने लोगों को तिरंगा खरीदने के लिए बाध्य कर दिया था।




और भी पढ़ें :