बाबा रे बाबा! विवादों से गहरा नाता रहा है राम रहीम का...

पुनः संशोधित बुधवार, 23 अगस्त 2017 (16:51 IST)
हमें फॉलो करें
डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के खिलाफ 25 अगस्त को यौन शोषण के मामले में अदालत का फैसला आने वाला है। हरियाणा के सभी जिलों में धारा 144 लगा दी गई, वहीं उनके लाखों समर्थक सड़कों पर उतर आए हैं। का विवादों से पुराना नाता रहा है। उनका जन्म 15 अगस्त 1967 को राजस्थान के श्रीगंगानगर में हुआ था। वे मूलत: पंजाबी जाट हैं। उन्होंने 1990 में डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख के रूप में डेरे को संभाला।

कारोबार भी कम नहीं : बाबा रामदेव के पतंजलि प्रोडक्ट्स की तरह ही राम रहीम भी MSG नाम से प्रोडक्ट्स बाजार में बेचते हैं। MSG के पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली-एनसीआर में 200 स्टोर हैं। कंपनी के प्रोडक्ट्स में दाल, अनाज, चावल, आटा, देसी घी, मसाले, अचार, जेम, शहद, मिनरल वॉटर और नूडल्स शामिल हैं। बाबा के पास हरियाणा के सिरसा में करीब 700 एकड़ की एग्रीकल्चर लैंड है। वे एक गैस स्टेशन और एक मार्केट कॉम्प्लेक्स भी चलाते हैं।

देशभर में कई आश्रम : डेरा सच्चा सौदा का साम्राज्य विदेशों तक फैला हुआ है। देश में डेरा के करीब कई आश्रम हैं और उसकी शाखाएं अमेरिका, कनाडा और इंग्लैंड से लेकर ऑस्ट्रेलिया और यूएई तक फैली हुई हैं। करीब पांच करोड़ अनुयायी डेरा सच्चा सौदा को मानने वाले हैं, जिनमें से 25 लाख अकेले हरियाणा में ही मौजूद हैं। सिरसा के जिले में मौजूद सभी दुकानों के नाम के आगे सच शब्द लिखा दिखाई पड़ता है।
साध्वियों से यौन शोषण का मामला : 2002 में बाबा पर आश्रम की साध्वियों के यौन शोषण के आरोप लगे थे। मई 2002 में एक युवती ने यौन शोषण को लेकर एक खत मीडिया, पंजाब-हरियाणा उच्च न्यायालय और प्रधानमंत्री को भेजा था। उच्च न्यायालय ने उस पत्र पर संज्ञान लेते हुए 24 सितंबर 2002 को सीबीआई को इस पत्र के आधार पर जांच का जिम्मा सौंपा था, जिसका फैसला 25 अगस्त को आना है।

पत्रकार की हत्या का मामला : सिरसा के पत्रकार रामचंद्र छत्रपति और डेरा के पूर्व मैनेजर रणजीतसिंह की हत्या का आरोप भी बाबा राम रहीम पर लगा है। इस मामलों की जांच भी सीबीआई कर रही है। पत्रकार रामचंद्र छत्रपति के बेटे ने आरोप लगाया था कि 2002 में उन्‍हें डेरा सच्चा सौदा के खिलाफ डेरा की साध्वियों ने एक गुमनाम पत्र दिया था। इस पत्र को रामचंद्र ने अखबार में छापा था। उसी के बाद से उन्हें जान से मारने की धमकियां आने लगीं और 24 अक्टूबर 2002 को उन्हें गोलियों से भून डाला।
नपुंसक बनाने का मामला : डेरा प्रमुख पर 400 साधुओं को नपुंसक बनाने का मामला भी दर्ज है। डेरा में यह कहकर साधुओं को नपुंसक बनाया गया था कि नपुंसक बनाए जाने से वे लोग डेरा प्रमुख के जरिए प्रभु को महसूस कर सकेंगे।

सिखों से विवाद : मई 2007 में डेरा सलावतपुरा में राम रहीम ने गुरु गोबिंद सिंह जैसी वेशभूषा धारण कर फोटो खिंचवाए। सिखों ने इसके विरोध स्वरूप बठिंडा में डेरा प्रमुख का पुतला फूंका। प्रदर्शनकारी सिखों और डेरा अनुयायियों में विवाद भी हुआ था। 18 जून 2007 को बठिंडा की अदालत ने राजेंद्रसिंह सिद्धू की याचिका पर डेरा प्रमुख के खिलाफ गैर जमानती वारंट भी जारी कर दिए थे। इसके बाद पंजाब की बादल सरकार के खिलाफ जगह-जगह हिंसक प्रदर्शन भी हुए थे।
प्रस्तुति : अंकित पिपलोदिया



और भी पढ़ें :