यौन शोषण मामला : पंचकूला में बाबा समर्थकों का हुजूम

Last Updated: गुरुवार, 24 अगस्त 2017 (20:20 IST)
हमें फॉलो करें
चंडीगढ़/ नई दिल्ली। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के खिलाफ दायर यौन उत्पीड़न के मामले में फैसला आने से एक दिन पहले आमतौर पर शांत रहने वाले पंचकूला में तनाव है, हजारों यहां पहुंच गए हैं।

पुलिस और प्रशासन को डर है कि इस मामले में अगर फैसला डेरा प्रमुख के खिलाफ आया तो कानून-व्यवस्था के लिए चुनौतीपूर्ण हालात हो सकते हैं। इसे देखते हुए पंजाब और हरियाणा के संवेदनशील इलाकों में 15000 अर्धसैनिक बलों समेत हजारों की संख्या में जवानों को तैनात किया गया है।

पंजाब और हरियाणा में डेरा सच्चा सौदा के काफी अनुयायी हैं और इसे देखते हुए दोनों राज्यों में हाईअलर्ट जारी किया गया है। अधिकारियों ने कहा कि दोनों राज्यों और उनकी संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ में मोबाइल इंटरनेट सेवा पर अगले 72 घंटे तक रोक रहेगी और सोशल मीडिया पर पोस्ट की जाने वाली सामग्री पर भी कड़ी नजर रखी जा रही है। अधिकारियों ने पंचकूला के लिए बस और रेल सेवा भी रोक दी है।
प्रशासनिक तंत्र के लिए हालांकि थोड़ी राहत की बात यह है कि राम रहीम सिंह ने आज कहा कि वे
व्यक्तिगत रूप से सीबीआई की विशेष अदालत में पेश होंगे। उन्होंने अपने अनुयायियों से भी शांति

बनाए रखने की अपील की है।
गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, केंद्र सरकार ने दोनों
राज्यों को किसी भी स्थिति से निपटने में मदद करने के लिए हरसंभव मदद का भरोसा दिया है क्योंकि बड़ी संख्या में डेरा प्रमुख के अनुयायी पंचकूला पहुंचना शुरू हो गए हैं। उन्होंने कहा कि हम
पंजाब और हरियाणा सरकारों के नियमित संपर्क में हैं और उन्हें पर्याप्त बल मुहैया कराया गया है।

अधिकारी ने कहा कि पंचकुला, सिरसा, हिसार और अन्य जगहों पर सुरक्षाबलों ने फ्लैग मार्च किया
जबकि ऐहतियाती कदम के तौर पर कई अस्पतालों को भी अलर्ट पर रखा गया है। उन्होंने कहा कि पुलिस सोशल मीडिया, खासकर वाट्सऐप समूहों, फेसबुक और टि्वटर पर कड़ी नजर रख रही है और
लोगों से अफवाह नहीं फैलाने को कहा है।

ऐहतियाती कदम के तौर पर कई मार्गों पर बस सेवाओं को भी स्थगित किया गया है। पंजाब के राज्यपाल और केंद्र शासित क्षेत्र के प्रशासक वीपी सिंह बदनोर की अध्यक्षता में हुई समन्वय समिति की बैठक में मोबाइल इंटरनेट सेवा को स्थगित रखने का फैसला किया गया।
72 घंटे के लिए इंटरनेट सेवा बंद : हरियाणा के अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) राम निवास ने कहा कि मोबाइल इंटरनेट और डेटा सेवा को पंजाब, हरियाणा और केंद्र शासित चंडीगढ़ में अगले 72 घंटों के लिए तत्काल प्रभाव से रोक दिया गया है।

उन्होंने कहा कि इस संबंध में अधिसूचना जारी की जा रही है। निवास ने कहा कि रेल मंत्रालय से तत्काल चंडीगढ़ की तरफ आने वाली गाड़ियों को दो दिनों के लिए रोकने का अनुरोध किया गया है। उन्होंने कहा कि इसी तरह चंडीगढ़ और पंचकूला आने वाली हरियाणा रोडवेज की बसों को पहले ही दो दिन के लिए रोका जा चुका है।

उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ के सेक्टर 9 में पंजाब और हरियाणा के लिए संयुक्त नियंत्रण कक्ष बनाया जाएगा, जहां दोनों राज्यों से एक-एक अफसर को बेहतर समन्वय के लिए तैनात किया जाएगा। सभी
जिलों में धारा 144 लागू रहेगी, वहीं हरियाणा सरकार ने पंचकूला के सेक्टर-3 में ताऊ देवी लाल स्टेडियम परिसर और सिरसा में दलबीर सिंह इनडोर स्टेडियम को विशेष जेल बनाया है।

बंद रहेंगे कार्यालय : पंजाब सरकार ने आज घोषणा की कि 25 अगस्त को चंडीगढ़ में उसके
कार्यालय बंद रहेंगे। उल्लेखनीय है कि डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के खिलाफ यौन शोषण मामले में अदालत का फैसला भी 25 अगस्त को ही आने की संभावना है।

एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि पंजाब सरकार के सभी कार्यालय, बोर्ड, निगम, एजेंसियां और
सार्वजनिक उपक्रम संगठन कल बंद रहेंगे। इस संबंध में अधिसूचना जारी की गई है। पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ में सुरक्षा एजेंसियां डेरा समर्थकों के चंडीगढ़ के समीप पंचकूला पहुंचने पर एकदम चौकस हो गई हैं। कल सीबीआई अदालत यौन शोषण मामले में फैसला सुना सकती है। (भाषा)



और भी पढ़ें :