सामने आया डेंगू का घातक स्ट्रेन D2, दिल्ली, UP और MP में खतरा और बढ़ा

पुनः संशोधित शनिवार, 11 सितम्बर 2021 (17:28 IST)
देश के कई राज्यों में कोरोनावायरस का कहर कम हुआ तो डेंगू के मामलों ने चिंताओं को बढ़ा दिया है। कई राज्यों में यह घातक रूप ले चुका है। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के निदेशक जनरल डॉक्टर बलराम भार्गव ने उत्तर प्रदेश के मथुरा, आगरा और फिरोजाबाद जिले में ज्यादातर मौतें डेंगू के कारण हुई हैं। उन्होंने कहा कि इसके पीछे डेंगू का D-2 स्ट्रेन है, जो कि बेहद खतरनाक है।

नीति आयोग (स्वास्थ्य) के सदस्य डॉक्टर वीके पॉल ने लोगों से अपील की है कि वे डेंगू को ध्यान में रखते हुए सुरक्षा उपायों पर विशेष ध्यान दें, क्योंकि डेंगू की वजह से कई तरह की गंभीर समस्याएं सामने आ सकती हैं। यहां तक कि मौतें भी हो सकती हैं।

हरियाणा के पलवल में मिला डेंगू का D2 वैरिएंट : हरियाणा के पलवल 10 मरीजों की मौत बाद की गई मरीजों की जान में डेंगू का डी2 स्ट्रेन पाया गया है। यह स्ट्रेन बहुत खतरनाक होता है, जो ब्लीडिंग का कारण बनता और प्लेटलेट काउंट पर असर डालता है। यह स्ट्रेन काफी खतरनाक है। इसमें बीमारी पैदा करने की क्षमता बहुत ज्यादा होती है। इसे डेंगू शॉक सिंड्रोम से जोड़कर देखा जाता है। इससे बुखार के साथ अचानक ब्लड प्रेशर कम होता है और मरीज की मृत्यु हो जाती है।
वैक्सीन भी नहीं : पॉल ने कहा कि डेंगू को गंभीर बीमारी के तौर पर लेने की जरूरत है क्योंकि हमारे पास इसका कोई वैक्सीन भी नहीं है। मॉस्क्यूटो नेट का इस्तेमाल कर इस बीमारी से बचें। हाल ही में एक केंद्रीय टीम ने फिरोजाबाद जिले का दौरा किया था। टीम ने कहा था कि यहां ज्यादातर मौतें डेंगू की वजह से हुई हैं।

दिल्ली में 100 से ज्यादा मरीज : दिल्‍ली में पिछले साल के मुकाबले डेंगू मरीजों की संख्‍या में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। दिल्‍ली में जनवरी से मई तक 29 डेंगू के मरीज आए थे। मरीजों का यह आंकड़ा सितंबर के महीने में अब तक 100 तक पहुंच गया है। हालांकि अब इस बात को लेकर चिंता है कि कहीं ये आंकड़ें महामरी का रूप ना ले लें। इसके बाद इस पर काबू पाना खासा मुश्किल हो जाएगा।
यूपी में डेंगू और वायरल फीवर का कहर : यूपी के फिरोजाबाद में बड़ी संख्‍या में वायरल और डेंगू बुखार से लोगों की मौत हुई है। यह संख्‍या 50 से 100 के बीच बताई जा रही है। जानकारी के मुताबिक फिरोजाबाद मेडिकल कॉलेज के बाल रोग पृथक-वास वार्ड में 403 मरीज भर्ती हैं। यहां पर भर्ती होने वाले मरीजों का आंकड़ों रोज बढ़ रहा है। फिरोजाबाद जिला पिछले तीन हफ्तों से डेंगू और वायरल से जूझ रहा है। पीड़ितों में अधिकांश बच्चे बताए जा रहे हैं।
में 2200 मरीज : मध्यप्रदेश में मंदसौर, इंदौर सहित 7 जिले डेंगू से प्रभावित हैं। एक अनुमान के मुताबिक प्रदेशमें 2200 डेंगू मरीज मिले हैं। कई जिलों में अस्पतालों में मरीजों की भारी भीड़ है।




और भी पढ़ें :