नोटबंदी: चीन से आए हैं एटीएम के पुर्जे...

नई दिल्ली| पुनः संशोधित शुक्रवार, 18 नवंबर 2016 (14:20 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। 500 और 1000 रुपए के नोट बंद करने के मोदी सरकार के फैसले के बाद से ही बैंकों, और पोस्ट ऑफिस के बाहर लगी कतारें कम होने का नाम ही नहीं ले रही है। नोट रद्द किए जाने के फैसले के नौ दिनों बाद भी लगभग 2 लाख एटीएम में से केवल 18,000 एटीएम को ही 500 और 2000 रुपए के नए नोटों के हिसाब से तैयार किया जा सका है। इसके लिए पुर्जे से मंगाए गए हैं। 
 
एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि लोकल वेंडरों के पास एटीएम के कुछ पुर्जे नहीं हैं और सरकार एटीएम में जल्द बदलाव करने के लिए चीन से पुर्जे मंगा रही है।
 
उन्होंने कहा कि देश में मैग्नेटिक पुर्जे और हार्डवेयर का भंडार खत्म हो गया है। इन्हें चीन से खरीदा जा रहा है। पुर्जे मिल जाने पर सभी एटीएम को दुरुस्त करने में एक सप्ताह से ज्यादा समय नहीं लगना चाहिए।
 
एसबीआई की चेयरमैन अरुंधति भट्टाचार्य ने इकनॉमिक टाइम्स को बताया कि कुछ एटीएम में इन पुर्जों की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि पर्याप्त मात्रा में पुर्जों का इंतजाम किया गया है। इस मामले में कोई समस्या नहीं होगी।
 
अधिकारी ने कहा कि हार्डवेयर का इस्तेमाल करेंसी नोट का वजन करने और उसी के मुताबिक उसे एटीएम से बाहर निकालने में होता है। उन्होंने कहा, 'यह वजन के हिसाब से नोट बाहर निकालता है। अगर एटीएम नोट को तौल नहीं पाएगा तो काम ही नहीं करेगा।'
 
हालांकि कुछ बैंकरों का मानना है कि अगर एटीएम की इस समस्या को जल्द दूर नहीं किया गया तो परेशानी और बढ़ सकती है। (भाषा) 



और भी पढ़ें :