UP में SP के 'किले' में BJP की सेंध, पंजाब में 'AAP' को झटका, 10 प्वाइंट में जानें लोकसभा-विधानसभा उपचुनावों में कहां किसे मिली जीत

पुनः संशोधित रविवार, 26 जून 2022 (20:21 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। उपचुनावों के नतीजों में रविवार को त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक साहा की जीत के साथ भाजपा राज्य की 4 में से 3 सीट पर विजयी घोषित की गई। लोकसभा की 3 तथा विधानसभा की सात सीट पर 23 जून को हुए उपचुनावों की रविवार को मतगणना हुई। ये 5 राज्य और दिल्ली में हुए थे। उत्तरप्रदेश में समाजवादी पार्टी के मजबूत गढ़ माने जाने वाले रामपुर और आजमगढ़ लोकसभा क्षेत्रों पर भी भाजपा ने कब्जा जमा लिया है, आप पंजाब की संगरूर सीट हार गई।
ALSO READ:

UP bypoll election results : BJP ने जीती आजमगढ़-रामपुर की सीटें, आपसी फूट से ढहा सपा का गढ़
1. ढहा सपा का गढ़ : सपा प्रमुख अखिलेश यादव और पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान के विधायक बनने के बाद उनके इस्तीफे से रिक्त हुई क्रमश: आजमगढ़ और रामपुर सीट पर भाजपा और सपा के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिली। में आजमगढ़ सीट पर भोजपुरी गायक और अभिनेता दिनेश लाल यादव निरहुआ ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी समाजवादी पार्टी के धर्मेंद्र यादव को आठ हजार से अधिक मतों से पराजित कर दिया।
2. बसपा ने बनाई त्रिकोणीय लड़ाई : सपा प्रमुख अखिलेश यादव के विधायक चुने जाने के बाद उनके सांसद पद से इस्तीफे की वजह से रिक्त हुई आजमगढ़ सीट पर 23 जून को मतदान को हुआ था और इस दौरान आजमगढ़ में 49.43 फीसदी वोट पड़े। आजमगढ़ में बसपा ने त्रिकोणीय लड़ाई बनाई, लेकिन वह रामपुर में चुनाव मैदान में नहीं उतरी। रामपुर में भाजपा के घनश्याम लोधी ने सपा के आसिम राजा को 42,192 मतों के अंतर से हराया। रामपुर में घनश्याम लोधी को कुल 3,67,397 वोट मिले जबकि आसिम राजा को 3,25,205 वोट मिले।

3. आप ने जीती दिल्ली की सीट : आप के लिए खुशी की बात यह रही कि उसने राष्ट्रीय राजधानी में राजेंद्र नगर विधानसभा सीट पर अपना कब्जा बरकरार रखा। दिल्ली की राजेंद्र नगर विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में आम आदमी पार्टी के दुर्गेश पाठक ने भाजपा उम्मीदवार राजेश भाटिया को 11 हजार से अधिक मतों के अंतर से हराया।
4. संगरूर में मिली हार : आम आदमी पार्टी संगरूर की सीट बचाने में आप असफल रही जहां से भगवंत मान को लगातार दो बार जीत मिली थी। हालांकि, राज्य विधानसभा चुनाव में आप को तीन महीने पहले शानदार जीत मिली थी। पंजाब के मुख्यमंत्री मान ने संगरूर संसदीय सीट से इस्तीफा दे दिया था।इस सीट पर शिरोमणि अकाली दल (अमृतसर) के प्रत्याशी सिमरनजीत सिंह मान ने जीत दर्ज की। मान ने आप के उम्मीदवार गुरमेल सिंह को 5,822 मतों के अंतर से हराया।
5. झारखंड में कांग्रेस को जीत : कांग्रेस त्रिपुरा और झारखंड में एक-एक सीट जीतने में कामयाब रही, जबकि आंध्रप्रदेश में सत्तारूढ़ पार्टी वाईएसआर कांग्रेस आत्मकुरु विधानसभा सीट पर विजयी हुई। झारखंड की मांडर सीट से कांग्रेस की उम्मीदवार शिल्पी नेहा तिर्की ने भाजपा की गंगोत्री कुजूर को 23,517 मतों के अंतर से हराया।

6. आंध्रप्रदेश में क्या हुआ : आंध्रप्रदेश में सत्तारूढ़ वाईएसआर कांग्रेस एसपीएस नेल्लोर जिले की आत्मकुरु सीट पर अपना कब्जा बरकरार रखने में कामयाब रही। इस सीट पर उपचुनाव में वाईएसआर कांग्रेस के उम्मीदवार ने 82,888 मतों के भारी अंतर से जीत हासिल की है। वाईएसआर कांग्रेस के उम्मीदवार एम विक्रम रेड्डी 1,02,241 वोट मिले, जबकि भाजपा के जी भरत कुमार यादव को 19,353 मत ही मिले।
7. त्रिपुरा में खुला खाता : त्रिपुरा में पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस एक भी सीट नहीं जीत पाई थी लेकिन इस बार राज्य में उसका खाता खुल गया है। त्रिपुरा में भाजपा ने 4 में से 3 विधानसभा सीट पर जीत हासिल कर अपनी स्थिति मजबूत कर ली है। त्रिपुरा की टाउन बोरदोवाली सीट पर मुख्यमंत्री व भाजपा उम्मीदवार माणिक साहा ने 6,104 मतों के अंतर से जीत हासिल की। उन्हें 17,181 मत मिले, जो डाले गए कुल मतों का 51.63 प्रतिशत हैं।

8. टीएमसी का खराब प्रदर्शन : त्रिपुरा में पैठ बनाने का प्रयास कर रही तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) का प्रदर्शन बहुत खराब रहा और सभी सीट पर उसके उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई। अगरतला सीट पर कांग्रेस के उम्मीदवार सुदीप रॉय बर्मन को 3,163 मतों के अंतर से जीत मिली। उन्हें 17,241 वोट मिले, जो डाले गए कुल वोट का 43.46 प्रतिशत है।

9. माकपा के गढ़ में भाजपा की जीत : मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के गढ़ माने जाने वाले जुबराजनगर में भाजपा को 4,572 मतों के अंतर से जीत मिली है। भाजपा उम्मीदवार मलिना देबनाथ को 18,769 (51.83 प्रतिशत) वोट मिले, जबकि माकपा के शैलेंद्र चंद्र नाथ को 14,197 (39.2 प्रतिशत) वोट मिले। सुरमा सीट पर भाजपा उम्मीदवार स्वप्ना दास को 4,583 मतों के अंतर से जीत मिली।

10. समर्थकों में झड़प : कांग्रेस भवन के सामने कांग्रेस और भाजपा के समर्थकों के बीच हुई झड़प में त्रिपुरा प्रदेश कांग्रेस कमेटी (टीपीसीसी) प्रमुख बिरजीत सिन्हा सहित कम से कम 19 लोग घायल हो गए। पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े।



और भी पढ़ें :